Thursday, December 17

क्या आप अपनी सारी टिप्पणियां पढ़ना चाहेंगे?

आज ब्लॉग सर्फ़िंग के दौरान अचानक श्रीश पाठक 'प्रखर' जी की इस पोस्ट पर नज़र पड़ी- मेरी सारी टिप्पणियां इकठ्ठी हो सकती हैं क्या...? पोस्ट पढ़कर पता चला कि विभिन्न चिट्ठों पर की गई टिप्पणियां किसी धरोहर से कम नहीं। उन्हें फ़िर से पढ़ना मतलब पुरानी यादों में गोता लगाना। इसी कोशिश में मैंने एक जुगाड़ का इंतजाम किया और अलग-अलग चिट्ठों पर की गई अपनी अधिकांश टिप्पणियां आसानी से पढ़ीं।

यह जुगाड़ है गूगल सर्च इंजन। अब आप कहेंगे कि गूगल सर्च इंजन पर खोजने लगे तो 56 सौ 60 नतीजे आएंगे और उन्हें पढ़ना मतलब दिमाग का दही करना। जनाब, सर्च इंजन पर खोज करना एक विशिष्ट कला है। इसके कुछ फॉर्मूले हैं। फास्ट और एकुरेट सर्च के लिए इस्तेमाल होने सभी फॉर्मूलों से तो मैं आपको अगली पोस्ट में रूबरू कराऊंगा (अगर आपकी दिलचस्पी हो तो)। यहां मैं बता रहा हूं आपको अपनी सभी टिप्पणियां झट से पाने का तरीका।

1. गूगल सर्च इंजन का होमपेज खोलिए।

2. इसमें अपना वह नाम लिखिए, जो आपके प्रोफाइल में लिखा है। अगर आप अपना नाम देवनागरी में लिखते हैं तो देवनागरी में लिखें और रोमन में लिखते हैं तो रोमन में लिखें। अच्छा होगा अगर आप अपने नाम को ब्लॉग से कॉपी कर यहां सीधे पेस्ट करें।

3. इसके बाद इस नाम के आगे अंग्रेजी में said लिख दें। नाम और said के बीच में एक स्पेस होना चाहिए। मिसाल के तौर पर समीरलाल जी की टिप्पणियां पढ़नी हों तो लिखें Udan Tashtari said

4. अब इसे एक quote (उद्धरण चिन्ह) में बंद कर दें। अब यह आपको ऐसा दिखेगा- "Udan Tashtari said"


5. अब सर्च का बटन दबाइए। खुलने वाले नतीजे आपकी ज़्यादातर टिप्पणियां ले आए हैं। इनकी पहली पंक्ति तो आप इसी पृष्ठ पर पढ़ सकते हैं। अगर किसी कमेंट को पूरा पढ़ना हो तो संबंधित नतीजे पर जाएं और उसे विस्तार से पढ़ लें।



डेमो के तौर पर यहां क्लिक कर आप मेरी टिप्पणियां पढ़ सकते हैं।

6. अगर आप अपनी और भी टिप्पणियां पढ़ना चाहते हैं तो अपने प्रोफाइल नेम के साथ अपनी सर्च टर्म को इस तरह बदलें-

"Udan Tashtari said"

"Udan Tashtari says"

"Udan Tashtari ने कहा"


उम्मीद है आपको टिप्पणियां पढ़ने का यह तरीका पसंद आया होगा।

वैसे टिप्पणियों को पाने का एक तरीका बैकटाइप की मदद लेना भी हो सकता है। लेकिन इसके लिए यह आवश्यक है कि जिस ब्लॉग पर आप टिप्पणी कर रहे हैं, वह यहां रजिस्टर हो। हिन्दी ब्लॉग जगत के विस्तार को देखते हुए यह संभव नहीं लगता।

नोट- ब्लॉगमदद पर पहली बार गया। मुझे प्रयास पसंद आया, लेकिन एक छोटी सी आपत्ति दर्ज कराना चाहता हूं। इस ब्लॉग की एक पोस्ट हिंदी ब्लॉग टिप्स के खजाने से मदद के लिंक - काम की कड़ियाँ दी गई हैं। हिन्दी ब्लॉग टिप्स को इस लायक समझने के लिए धन्यवाद। प्रवीण त्रिवेदी जी का ध्यान दिलाना चाहूंगा कि वे इस पोस्ट के बीच में किसी दूसरे ब्लॉग की फ़ीड़ (काम की टिप्स, उपयोगी जानकारी, ब्लॉग सजाइए ) को यहां से निकालकर उचित स्थान पर लगाएं। वरना पाठक भ्रमित होते हैं कि वे पोस्ट भी हिन्दी ब्लॉग टिप्स पर उपलब्ध हैं।

हैपी ब्लॉगिंग





क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!
पिछली पोस्ट के हमसफरः हिमांशु जी, ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ जी, Mohammed Umar Kairanvi जी, ताऊ रामपुरिया जी, alka sarwat जी, संजय भास्कर जी, seema gupta जी, रंजन जी, RAJNISH PARIHAR जी, Etips blog se Mukesh जी, वन्दना अवस्थी दुबे जी, विनीता यशस्वी जी,रंजना [रंजू भाटिया] जी, Dr. Mahesh Sinha जी, सुशील कुमार छौक्कर जी, Ratan Singh Shekhawat जी, rahul जी, vinay जी, Mishra Pankaj जी, चंदन कुमार झा जी, मनोज कुमार जी, डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक जी, मीत जी और नरेश सिह राठौङ जी

Wednesday, December 16

Update your templates - इस संदेश का क्या मतलब है?

कल हिमांशु जी ने ब्लॉगर डैशबोर्ड पर एक संदेश पाया। यह संदेश उन्हें अपने ब्लॉग की कुछ फाइलों को अपडेट करने संबंधी सूचना दे रहा था। हिमांशु जी ने मेल भेज कर यह जानना चाहा कि क्या उन्हें इस संदेश का पालन करना चाहिए। अगर हां, तो किस तरह?

संदेश था-

Update your templates

Your templates include links to files hosted on Google Page Creator, a service that is soon migrating to Google Sites. Do you want Blogger to update those links now?

Update and review Dismiss



यह संदेश किसी भी ब्लॉग के डैशबोर्ड पर आ सकता है। और अगर यह संदेश आपको मिलता है तो आपको इसका पालन करना जरूरी होगा, अन्यथा आपका ब्लॉग पढ़ने में परेशानी हो सकती है। जानते हैं इस संदेश का विस्तृत मतलब-

पिछले साल गूगल की एक सेवा गूगल पेज क्रिएटर को बंद करने की घोषणा हुई थी। उसकी जगह गूगल साइट्स ने ली थी। दोनों पर ही फाइल्स को होस्ट करने की सुविधा थी। अब आप कहेंगे कि इनका ब्लॉगर पर क्या लेना-देना? आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आप जब थर्ड-पार्टी टेम्पलेट या अन्य सामग्री अपने ब्लॉग पर लगाते हैं तो उनकी फाइल्स कहीं न कहीं होस्ट होती हैं। अब अगर ऐसे में आपके ब्लॉग की कुछ फाइल्स गूगल पेज क्रिएटर पर होस्ट हुईं तो वे थोड़े समय बाद दिखना बंद हो जाएंगी। इसलिए ब्लॉगर ने आपको इन्हें आसानी से गूगल साइट्स पर अपडेट करने का विकल्प दिया है।

इन्हें अपडेट करने के लिए आपको यहां क्लिक करना होगा। इसके बाद अपने उसी यूजरनेम-पासवर्ड से लॉग-इन करना होगा, जिसका इस्तेमाल आप अपने ब्लॉगर अकाउंट के संचालन में करते हैं। इसके बाद आप ब्लॉगर हैल्प के इस लिंक की मदद लीजिए औऱ अपनी फाइल्स को चुटकियों में अपडेट कर लीजिए।

अपडेट होने में परेशानी उसी अवस्था में हो सकती है, जब आपकी किसी फाइल का आकार 1 एमबी से ज्यादा हो। वैसे टेम्पलेट में इससे बड़े आकार की फाइल की संभावना न के बराबर मानी जाती है।

अन्य किसी तरह की परेशानी होने पर हिन्दी ब्लॉग टिप्स से संपर्क किया जा सकता है।

हैपी ब्लॉगिंग
पिछली पोस्ट के हमसफरः श्यामल सुमन जी, Dr. Mahesh Sinha जी, मनोज कुमार जी, निर्मला कपिला जी, ताऊ रामपुरिया जी, रंजन जी, Ratan Singh Shekhawat जी, Mohammed Umar Kairanvi जी, पं.डी.के.शर्मा"वत्स" जी, हिमांशु जी, डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक जी, अल्पना वर्मा जी, Vijay Kumar Sappatti जी, मीत जी, शरद कोकास जी, रूक्मागत शर्मा जी, vinay sharma जी, डॉ टी एस दराल जी, venus kesari जी, गौतम राजरिशी जी, मानव मेहता जी, महावीर बी. सेमलानी जी और काजल कुमार Kajal Kumar जी






क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!
हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Wednesday, December 9

विजेट सुधारः टिप्पणियों की कुल संख्या अब ठीक है

करीब आठ-दस दिन से ब्लॉगर साथियों की शिकायत मिल रही थी कि ब्लॉग पर टिप्पणियों की कुल संख्या दिखाने वाला विजेट इनकी संख्या कम दिखा रहा है। व्यस्तता के चलते मैं इसे समय नहीं दे पाया। कल रतन सिंह जी शेखावत ने टिप्पणी कर एक बार फिर इस ओर ध्यान दिलाया और उसके बाद ताऊ रामपुरिया जी ने भी इसे जल्द से जल्द सुधारने का नोटिस भेजा, जिससे वे ताऊजी डॉट कॉम पर कुल टिप्पणियों की संख्या का पता लगा सकें।

कुछ फेरबदल करने के बाद यह विजेट अब मुझे सही काम करता नजर आ रहा है। जो साथी इस विजेट को पहले ही लगा चुके हैं उन्हें कुछ भी फेरबदल करने की ज़रूरत नहीं है। यह उनके ब्लॉग पर अब ठीक तरह से काम करेगा। साथ ही जो साथी इसे हटा चुके हैं, या अपने ब्लॉग पर इसे लगाना चाहते हैं वे इस पोस्ट के जरिए इसे लगा सकते हैं।

कितनी पोस्ट, कितनी टिप्पणियां

हैपी ब्लॉगिंग

पिछली पोस्ट के हमसफरः Murari Pareek जी, SALEEM
KHAN
जी, सुशील कुमार छौक्कर जी, Mohammed Umar Kairanvi जी, परमजीत बाली जी, Dr. Mahesh Sinha जी, RAJNISH PARIHAR जी, हिमांशु जी, प्रवीण त्रिवेदी जी, डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक जी, महफूज़ अली जी, ktheLeo जी, चंदन कुमार झा जी, Ratan Singh
Shekhawat
जी, Vivek Rastogi जी, रूक्मागत शर्मा जी, सुलभ सतरंगी जी, Hiral जी, Richa जी, राजेश बुढाथोकी 'नताम्स' जी और मीत जी


क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Tuesday, December 8

ताज़ा प्रविष्ठियों को फ्लेश हेडलाइंस की तरह दिखाने वाला विजेट

हिन्दी ब्लॉग टिप्स इस बार आपके लिए एक खास फ्लेश हेडलाइंस विजेट लेकर आया है, जिसे आप ब्लॉग की साइडबार में लगाकर पाठकों को अपनी ताज़ा प्रविष्ठियों की सूचना दे सकते हैं। ये एनिमेशन की तरह चलती दिखाई देती हैं, इसलिए आकर्षक भी लगती हैं और पाठकों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने में कामयाब रहती है। देखिए इसका एक नमूना-


टिप्स:



क्या आप इसे ब्लॉग की साइडबार में लगाना चाहते हैं।

तरीका बहुत आसान है। इसके लिए आप नीचे दिए गए कोड को लेआउट>>एड ए विजेट >>एचटीएमएल\जावास्क्रिप्ट विंडो में पेस्ट कर दीजिए। याद रखें कि इसमें लाल रंग से दिखाई गई जगह पर आपके ब्लॉग का पता बदलना नहीं भूले।

<p><span class="tickls">LATEST: </span><a id="tickerAnchor" style="text-decoration:none"></a></p><script style="text/javascript" src="http://ashishkk.110mb.com/headlines.js"> </script><script style="text/javascript"> var theLeadString = "LATEST: "; var thePostCount =5; var sBgColor; var nWidth; var nScrollDelay = 175; var sOpenLinkLocation="S"; </script> <script style="text/javascript" src="http://tips-hindi.blogspot.com/feeds/posts/default?alt=json-in-script&callback=PostTicker"> </script><br/>
<span style="font-size: 50%"><a href="http://tips-hindi.blogspot.com/2009/12/blog-post_08.html">विजेट आपके ब्लॉग पर </a></span>


इस कोड में दिखाई जाने वाली हेडलाइंस की संख्या 5 रखी गई है। अगर आप इसे बढ़ाना या घटाना चाहें तो हरे रंग से दिखाए स्थान पर संख्या को बदल लें।

उम्मीद है यह विजेट आपको पसंद आया होगा।

हैपी ब्लॉगिंग






क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!
हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Tuesday, December 1

विजेट्स की परेशानियां : काम जारी है...

बहुत दिन से ब्लॉग जगत से दूर रहा। इस दौरान सैकड़ों साथियों की मेल और टिप्पणियां मिलीं। समय पर उत्तर नहीं दे पाने का मुझे खेद है। सबसे पहले मैं उन साथियों का आभार जताना चाहता हूं, जिन्होंने कुछ विजेट्स की परेशानियों की ओर मेरा ध्यान दिलाया। ये विजेट्स हैं-

1. हिन्दी में लिखिए विजेट काम नहीं कर रहा।

2. कुल टिप्पणियां दिखाने वाला विजेट सही संख्या नहीं दिखा रहा।

3. शीर्ष टिप्पणीकार विजेट में भी संख्या सही नहीं दिख रहीं।

इन तीनों की परेशानियों की वजह गूगल/ब्लॉगर द्वारा हाल ही कुछ सैटिंग्स में बदलाव है। जहां गूगल ने ट्रांसलिटरेटर में फेरबदल किए हैं, वहीं ब्लॉगर ने अपनी फ़ीड में कुछ परिवर्तन किए हैं, जिस वजह से संख्या सही नहीं दिख पा रही हैं। इन परेशानियों को दूर करने का प्रयास जल्द से जल्द किया जाएगा।

पिछली पोस्ट में मैंने आपको न्यूज़ फ्लेश ब्लॉग हेडलाइंस विजेट देने का वादा किया था। यह विजेट भी अगली पोस्ट में जारी किया जाएगा।

हैपी ब्लॉगिंग




क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Saturday, November 14

Doodle 4 Google, गूगल पर चढ़ा हिंदुस्तानी रंग

आज 14 नवंबर यानी बाल दिवस पर गूगल का होमपेज खोलने में बडा़ मज़ा आया। गूगल के लोगो पर हिंदुस्तानी छाप जो थी। गर्व से सीना तो उस वक्त फूला जब पता चला कि ये सारे डिजाइंस हमारे देश के नन्हे मुन्ने बच्चों ने तैयार किए हैं। गूगल ने इस साल 2 अक्टूबर को गांधीजी को गूगल के लोगो पर जगह दी थी और भारतीय बच्चों के बीच Doodle 4 Google प्रतियोगिता कराने का ऐलान किया था। अब से प्रत्येक ऐताहासिक महत्व की तिथि को गूगल का लोगो भारतीय रंग में रंगा होगा।

गुड़गांव के चौथी कक्षा के पुरु प्रताप सिंह की इस कल्पना को देखिए। कहा जा सकता है कि हमारे देश का भविष्य वाकई उज्ज्वल है।


अन्य बच्चों की कल्पनाओं को इस तस्वीर पर क्लिक कर देखा जा सकता है-



अब आज की ब्लॉग टिप की बात

अपनी प्रयोगशाला में मैं कोई विजेट बनाने की कोशिश कर रहा था। कुछ सफल भी हुआ। टेस्टिंग के लिए आपको दिखा रहा हूं। आप देखिए अगर आपके ब्लॉग की हेडलाइंस न्यूज फ्लेश की तरह कुछ इस तरह से दिखें तो कैसा रहे।
अगर आपको यह पसंद आ रहा है तो कृपया लिखिए। इसे फाइनल टच देने का मोटिवेशन मिलेगा।

टिप्स:






क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Thursday, November 12

कृपया राय दीजिए, मुझे क्या करना चाहिए?

बहुत दिन से सोच रहा हूं कि नौकरी बदल ही लूं। आज थोड़ी फुरसत मिलने पर नेट खंगाला तो मुझे मेरे लायक केवल एक ही नौकरी दिखी। साथ ही एक आत्मनिर्भर होने वाले व्यवसाय का भी पता चला। अब मैं इन दोनों में से किसी एक के लिए अपनी किस्मत आजमाने के बारे में विचार कर रहा हूं। मैं फैसला नहीं कर पा रहा हूं कि दोनों में से क्या चुनूं। आपसे गुज़ारिश है कि आप दोनों की डिटेल पढ़ें और उसके बाद मुझे राय दें कि मुझे दोनों में से क्या चुनना चाहिए।

1. सेकिंड बेस्ट जॉब ऑफ द वर्ल्ड-

यह नौकरी फ्रांसीसी वेबसाइट letsbuyit.com दे रही है। इस ऐश भरी नौकरी के दौरान आप वेबसाइट के खर्चे पर दुनिया के सात खूबसूरत शहरों की सैर कर सकते हैं। इस नौकरी की कैंपेन कल यानी बुधवार से लॉन्च की गई है। वेबसाइट के आयोजक एक 'इंटरनेशनल शॉपिंग कंसल्टेंट' की तलाश कर रहे हैं। वेबसाइट ने विजेता को एक महीने तक मुफ्त में दुनिया के सात खूबसूरत शहरों (बर्लिन, हांगकांग, लंदन, मिलान, न्यूयॉर्क, पेरिस और टोक्यो) की सैर कराने का ऐलान किया है। इस दौरान उसे 5000 यूरो का आकर्षक पैकेज भी दिया जाएगा। विजेता के रहने-खाने, घूमने-फिरने और हवाई यात्रा का खर्च वेबसाइट उठाएगी। यही नहीं, उसे पूरे महीने कुल 10 हजार यूरो तक की शॉपिंग करने की भी आजादी मिलेगी। आवेदन की प्रक्रिया भी बेहद आसान है। सबसे पहले आपको एक वीडियो टेप तैयार करना होगा, जिसमें आप इस पद के लिए अपनी खूबियां गिनाएंगे। इसके बाद दमदार बायोडाटा के साथ इस फुटेज को अटैच करके 14 दिसम्बर तक 'लेट्स बाय इट डॉट कॉम' पर भेजना होगा।

बतौर 'इंटरनेशनल शॉपिंग कंसल्टेंट' विजेता महीने भर इंटरनेट उपभोक्ताओं से ब्लॉग के जरिए अपने अनुभव बांटेगा। इसमें वह बर्लिन, हांगकांग, लंदन, मिलान, न्यूयॉर्क, पेरिस और टोक्यो के शॉपिंग कल्चर की तुलना करेगा। साथ ही यह भी बताएगा कि किस शहर में सबसे सस्ती और टिकाऊ चीजें मिलती हैं। दुकानदारों से मोलभाव की संभावना कहां सबसे ज्यादा है, यह जानना भी विजेता के ही जिम्मे होगा।

गौरतलब है कि इससे पहले क्वींसलैंड टूरिज्म ने द ग्रेट बैरियर रीफ पर पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए 'बेस्ट जॉब इन द वर्ल्ड अभियान चलाया था। इसके तहत विभाग को हैमिल्टन द्वीप के केयरटेकर की तलाश थी।

2. हिट मी जॉब -

चीन में एक शख्स ने अनोखा पार्टटाइम व्यवसाय चुना है और मुझे भी यह व्यवसाय मेरे लिहाज से उपयुक्त लग रहा है।

यह चीनी पुरुष खुद को पंचबैग के रूप में उन महिलाओं के लिए उपलब्ध कराने की पेशकश कर रहा है, जो किसी पुरुष को पीटने की ख्वाहिश रखती हैं। उत्तर-पूर्वी चीन के शेनयांग के जियाओ लिन नाम का यह शख्स एक जिम का कोच है। उसने तनावग्रस्त महिलाओं को अपनी भड़ास निकालने के लिए खुद को एक पंचबैग की तरह इस्तेमाल करने के लिए पेश किया है। लिन को आधे घंटे तक पीटने के लिए महिलाओं को करीब सात सौ रुपए खर्च करने पड़ते हैं। इस नए कारोबार के बारे में लिन ने अपने परिवार को नहीं बताया है। लिन का कहना है कि महिलाओं के लिए पंचबैग बनकर वे कुछ पैसे भी कमा लेते हैं। इसके साथ-साथ खुद को बचाने की कला में भी उन्हें निपुणता हासिल हो रही है। इस सेवा का लाभ उठाने के लिए उनके पास ग्राहक भी आने लगे हैं। लिन के अनुसार उनकी पहली ग्राहक 25 साल की लड़की है। उसने आधा घंटे की कीमत अदा की। लेकिन वह जल्द ही थक गई। उसने बाकी समय उनके साथ बातचीत करके निकाला। दूसरी ग्राहक भी ऐसी ही थी। वह भी जल्द ही थक गई। लेकिन लिन को पीटने के बाद दोनों ही बहुत संतुष्ट दिखाई दीं। उनका कहना है कि ऐसा करके वह तनावग्रस्त महिलाओं की मदद कर रहे हैं।

अब आप ही बताइए कि मैं यह नौकरी करूं या यह व्यवसाय?

हैपी ब्लॉगिंग







क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Friday, November 6

गूगल ने दिया जवाब, किया कूटनीति का खुलासा

हिन्दी ब्लॉग टिप्स ने करीब दो हफ्ते पहले गूगल की ओर से भारत का भ्रमित नक्शा छापने से जुड़ी पोस्ट गूगल, यूं हिंदुस्तानियों के साथ खिलवाड़ न करो प्रकाशित की थी। गूगल ने इस खबर का संज्ञान लिया है और गूगल के आधिकारिक प्रवक्ता ने अपनी इस रणनीति का खुलासा ई-मेल भेजकर किया है।

गूगल का कहना है कि-



गूगल के जवाब का लब्बोलुआब यह है कि कंपनी ने कूटनीति अपनाते हुए अपनी साइट के तीन वर्जन तैयार किए हैं। पहला अंतरराष्ट्रीय वर्जन, दूसरा भारत के लिए और तीसरा चीन के लिए।

अन्तरराष्ट्रीय वर्जन (http://maps.google.com/) में गूगल विवादित सीमाओं को डॉटेड लाइंस से दिखाता है।

भारतीय वर्जन (http://maps.google.co.in/) में गूगल भारतीय दावे के मुताबिक सीमाओं को दिखाता है।

चीनी वर्जन (http://ditu.google.com/) में गूगल चीनी दावे के मुताबिक सीमाएं दिखाता है।



हमें ऐतराज इस बात पर है कि अगर ऐसा है तो फिर चीन के लिए तैयार वर्जन हिंदुस्तान में खुलता क्यों है? उसका एक्सेस कम से कम हिंदुस्तान में तो बंद किया जाना चाहिए।

और गूगल अगर इसे अपना अधिकार समझता है तो हिंदुस्तानी एजेंसियों को इस पर तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए और गूगल डीटू का एक्सेस हिंदुस्तान में बैन होना चाहिए।

हैपी ब्लॉगिंग




क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Saturday, October 24

गूगल, यूं हिंदुस्तानियों के साथ खिलवाड़ न करो

प्रिय गूगल,

इसमें कोई संदेह नहीं कि तुम हर इंटरनेट यूजर की ज़रूरत हो और इंटरनेट पर उसके सबसे अच्छे दोस्त हो। यह भी सही है कि तुमने इंटरनेट पर क्रांति का सूत्रपात किया है और इंटरनेट को नए तरीके से परिभाषित किया है। इसी वजह से आज तुम इंटरनेट पर सबसे बड़े खिलाड़ी के रूप में काबिज हो।

लेकिन क्या इस ताकत ने तुम्हें इतना बड़ा बना दिया है कि तुम सम्प्रभु देशों की भौगोलिक सीमाओं को भी अपने हिसाब से बदल सको? दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को इतना कमज़ोर समझो कि उसकी भौगोलिक सीमाएं दूसरे राष्ट्रों को समर्पित कर दो।

अब तुम ही देखो। यह गूगल डीटू है। गूगल मैप का तुम्हारा चीनी संस्करण। देखो, इसमें अरुणाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर के कितने बड़े हिस्से को तुम चीन में दिखा रहे हो। और तो और ताइवान को भी तुमने चीन का हिस्सा दिखाया है। हिंदुस्तान का राष्ट्रीय राजमार्ग- 52 (असम से अरुणाचल प्रदेश जाने वाला) भी तुमने अटपटे तरीके से सीमा पर ले जाकर अधूरा छोड़ दिया है। क्या तुम यह सोच रहे हो कि गूगल डीटू पर किसी हिंदुस्तानी की नजर नहीं पड़ेगी? भले ही यह भाषा हम पढ़ नहीं पा रहे हों, लेकिन तुम्हारे (या तुम्हे मोहरा बनाकर ड्रेगन के) मंसूबे यहां स्पष्ट दिखाई दे रहे हैं। दोनों देशों की तल्खी का मनौवैज्ञानिक फायदा तुम उस कथित उभरती महाशक्ति को पहुंचाना चाहते हो।



अभी दो महीने पहले ही तुम्हें गूगल मैप पर अरुणाचल प्रदेश के हिस्सों को चीनी भाषा में दर्शाए जाने पर फटकार लग चुकी है। तुमने माफी मांगी और यह कहा कि देशों के बीच सीमा विवाद में तुम नहीं पड़ते। तुमने गूगल मैप में भी पूरे के पूरे जम्मू-कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश को बिंदु रेखा के रूप में दिखाकर उन्हें विवादित करार दिया।



तुम्हारा गूगल एनालिटिक्स भी हिंदुस्तानी नक्शे में जम्मू-कश्मीर के कुछ हिस्से को चीन और पाकिस्तान में दिखा रहा है। पता नहीं तुम ऐसा क्यों कर रहे हो? तुम्हें यू गलत तथ्यों को प्रदर्शित करने का अधिकार कतई नहीं है।



हम हिंदुस्तानी ब्लॉगर तुम्हारे इस कदम (या कहें त्रुटि) की भर्त्सना करते हैं और तुमसे उम्मीद करते हैं कि तुम इस पर जल्द से जल्द कदम उठाओगे और अपने नक्शों को ठीक करोगे।

तुम्हारे इस कदम (या त्रुटि) से हम आहत हुए हैं।

तुम्हारे
हिंदुस्तानी ब्लॉगर


इस विषय पर मेरी (साथी पत्रकार हीरेन जोशी के साथ)विस्तृत रिपोर्ट गूगल ने बदल डाला हमारा नक्शा ! राजस्थान पत्रिका के 24 अक्टूबर, 2009 के अंक में प्रमुखता से प्रकाशित हुई है। इसे नीचे दिए गए चित्र पर क्लिक कर पढ़ा जा सकता है।



हैपी ब्लॉगिंग





क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Friday, October 9

एक लाइन में चलती हुईं ताजा प्रविष्ठियां दिखाएं (Horizontal scrolling recent posts)

क्या आप अपने ब्लॉग पर ताज़ा प्रविष्ठियों को एक ही लाइन में चलता हुआ (स्क्रॉलिंग) दिखाना चाहते हैं। पोस्ट के ऊपर या फिर साइडबार में। इस तरह चलती हुईं प्रविष्ठियां जगह भी कम घेरती हैं और पाठकों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित भी करती हैं। इसका जीवंत प्रदर्शन (लाइव डेमो) इस बक्से में देखें-



इसे लगाना बहुत आसान है। इसके लिए आप नीचे दिए गए कोड को लेआउट>>एड ए विजेट >>एचटीएमएल\जावास्क्रिप्ट विंडो में पेस्ट कर दीजिए। याद रखें कि इसमें लाल रंग से दिखाई गई जगह पर अपने ब्लॉग का पता बदलना नहीं भूले।

<script style="text/javascript" src="http://dreamydonkey.googlepages.com/scrolling_blogger_posts.js"> </script><script style="text/javascript"> var nMaxPosts = 15; var sBgColor; var nWidth; var nScrollDelay = 175; var sDirection="left"; var sOpenLinkLocation="N"; var sBulletChar="•"; </script> <script style="text/javascript" src="http://YOURBLOG.blogspot.com/feeds/posts/default?alt=json-in-script&callback=RecentPostsScrollerv2"></script>


उम्मीद है कि यह आपके ब्लॉग पर ठीक से काम करेगा.. नई ब्लॉग टिप के साथ फिर मिलेंगे .. हैपी ब्लॉगिंग





क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Tuesday, September 29

हिप-हिप हुर्रे.. ब्लॉगवाणी इज बैक

थैंक्स ब्लॉगवाणी.. सभी चिट्ठाकार साथियों की अपील स्वीकार करने के लिए..

ब्लॉगवाणी संकलक फिलहाल अस्थायी तौर पर बहाल किया जा रहा है.. ब्लॉगवाणी की पाती पढ़ने के लिए यह पोस्ट पढ़ें



उम्मीद है कि ब्लॉगवाणी जल्द ही और भी मज़बूत संकलक के रूप में हमारे सामने होगा।


हैपी ब्लॉगिंग.




क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Monday, September 28

वी वांट ब्लॉगवाणी बैक..

अपडेट: हिप-हिप हुर्रे.. ब्लॉगवाणी इज बैक


अब ब्लागवाणी को पीछे छोडकर आगे जाने का समय आ गया है..

ब्लॉगवाणी खोलते ही यह संदेश मिला। थोड़े हिन्दी चिट्ठे खंगाले तो वह विवादित पोस्ट भी दिखी, जिसने इस तरह के लांछन ब्लॉगवाणी पर लगाए। तकनीकी युग है। कुछ भी किया जा सकता है और उसे सिद्ध भी किया जा सकता है।

यहां मुझे यह लिखने की जरूरत नहीं है कि ब्लॉगवाणी संकलक हिन्दी चिट्ठों के विकास में किस तरह की भूमिका निभा रहा है। मैं बस यह कहूंगा ब्लॉगवाणी ने मुझे हर नए-पुराने चिट्ठाकार के साथ एक परिवार के रूप में बांधा है। ऐसा शायद ही कोई दिन होता है, जब मेरे कंप्यूटर पर सुबह सबसे पहले खुलने वाली वेबसाइट ब्लॉगवाणी न होती हो।

टीम ब्लॉगवाणी से मेरी व मेरे साथी चिट्ठाकारों की विनम्र अपील है कि इस मंच को फिर से सुचारू करें और हिन्दी ब्लॉग जगत के इस सबसे विशाल चौपाल को बरकरार रखें।

पसंद-नापसंद के मामले में यही कहूंगा कि तंत्र को मजबूत रखें और फिर भी सेंधमारी होती हैं तो उसकी परवाह न करें। पाठक इतना समझदार है कि बेवजह बढ़ाई गई पसंद वाले चिट्ठों को वह आसानी से पहचानता है।

उम्मीद है टीम ब्लॉगवाणी इस छोटी सी चिट्ठी पर संज्ञान लेगी। सकारात्मक जवाब की प्रतीक्षा में..

हैपी ब्लॉगिंग.

क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Friday, September 18

ब्लॉग पर स्टिंग ऑपरेशन के गुर

हिन्दी ब्लॉग जगत इन दिनों 'बहुत अच्छी' दिशा में मुड़ता दिखाई दे रहा है। बिल्कुल हिन्दी न्यूज़ चैनलों की तर्ज पर। जहां स्टिंग ऑपरेशन कर बार-बार कैप्शन और तस्वीरें दिखाकर किसी की इज्जत को तार-तार किया जाता है। खबर में से खास चटपटा मसाला निकालकर धमाके के साथ परोसा जाता है। ब्लॉग जगत में भी अब यह सब हो रहा है। एक्सक्लूसिव तरीके से 'सिर्फ इस ब्लॉग पर' का लेबल लगाकर विरोध जताने वालों के चीरहरण की नाकाम कोशिशें की जा रही हैं। एक चिट्ठे पर पिछली पोस्ट में यही देखने को मिला।

आज जानते हैं वे तकनीकी तरीके, जो किसी ब्लॉग स्टिंग ऑपरेशन के लिए जरूरी हैं-

तरीका- 1
स्नेपशॉट काटें


सबसे सरल तरीका- F12 के दाहिनी तरफ मौजूद Prt Scr कुंजी को प्रेस करें। यह कुंजी स्क्रीन पर मौजूद सारी सामग्री को प्रिंट करने का काम करती है।


इसके बाद paint खोलिए। तरीका है Start>>Programs>>Paint


अब यहां Cont+V कर स्क्रीनशॉट को पेस्ट कर दीजिए। मौजूद विकल्पों का सहारा लीजिए और अपनी मनपसंद सामग्री को इमेज के रूप में सेव कर लीजिए। इसके बाद यह इमेज पोस्ट में लगाए जाने के लिए तैयार है।

अब सीखिए असली गुर (कमजोर दिल वाले कृपया इसे ट्राई न करें)

स्टिंग ऑपरेशन करने में टीआरपी का ख्याल रखना सबसे बड़ी चीज है। इसके लिए हो सकता है आपको इस स्नेपशॉट में मर्जी के मुताबिक परिवर्तन भी करने पड़ें। Paint पर या Photoshop पर आसानी से आप इसे मनचाहे तरीके से एडिट कर सकते हैं। देखिए ये तीन स्नेपशॉट और तय कीजिए कि यह टिप्पणी आशीष खण्डेलवाल की है या उड़नतश्तरी की या ताऊ रामपुरिया की :)





(डिस्क्लेमर- यह टिप्पणी सिर्फ और सिर्फ मेरी ओर से लिखी गई है और इसका समीरलाल जी और ताऊजी से कोई संबंध नहीं है।)

आप भी इसमें नाम में या सामग्री में आसानी से जो चाहें वह बदलाव कर सकते हैं। बस याद रखिए ऑरिजिनल पोस्ट को या फिर कमेंट को डिलीट जरूर करवा दीजिए जिससे आपकी पोल न खुल जाए। इसके बाद अपने विरोधी का जुलूस आप आराम से निकाल सकते हैं। और भी तरीके हैं, लेकिन उनकी चर्चा उसी वक्त सामयिक होगी, जब वे किसी स्ट्रिंग ब्लॉग जर्नलिस्ट द्वारा ब्लॉग मार्केट में आ जाएंगे।

एक और गुर सीख लीजिए। इन दो प्रोफाइल को गौर से देखिए-

http://www.blogger.com/profile/11809821246121726944

http://www.blogger.com/profile/09509723253252348001


खा गए न गच्चा। दोनों प्रोफाइल एक ही इंसान के लग रहे हैं। ऐसे चाहे जितने प्रोफाइल बनाए जा सकते हैं। अपने विरोधी के नाम से एक फर्जी प्रोफाइल बनाइए। उसके नाम से खुद ही टिप्पणी कर दीजिए। स्नेपशॉट लीजिए (अबकी बार तो पोस्ट या कमेंट डिलीट करने की भी जरूरत नहीं) और निकाल दीजिए उसका जुलूस।

हैपी यलो ब्लॉगिंग

मुझे पता है कि ऊपर दी गई टिप कुछ चुनिंदा ब्लॉग कंटकों के काम की ही हैं। उन्हें सद्बुद्धि की कामना है, क्योंकि वे नहीं जानते कि वे क्या कर रहे हैं।

ब्लॉग लवर्स के लिए यह रही आज की टिप-

अपना चेहरा दिखाइए

ब्लॉगर ने बर्थडे गिफ्ट्स देने की कड़ी में एक और शानदार सुविधा दी है। इसके तहत आप अपने कमेंट की बाजू में मनचाही तस्वीर दिखा सकते हैं। ज्यादा लिखने का मन नहीं है (एक मित्र का एक्सिडेंट हुआ सुबह) इसलिए विस्तार से नहीं बता रहा हूं। विस्तार से जानने के लिए ब्लॉगर ब्लॉग की यह पोस्ट पढ़ लीजिए। यह केवल इम्बेडेड कमेंट बॉक्स पर ही लागू है।

आपके कमेंट के साथ आपकी मनचाही तस्वीर यूं दिखेगी-

पिक्चर लगाने का तरीका इस स्नेपशॉट में दिखाया गया है-


हैपी ब्लॉगिंग




क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Tuesday, September 15

रोमन में लिखी सामग्री देवनागरी में बदलिए

क्या आपको रोमन लिपि में लिखी ऐसी मेल मिलती हैं, जो हिन्दी भाषा में होने के बावजूद बेगानी लगती है। मुझे भी मिलती हैं और मैं उन्हें रोमन में पढ़ने की बजाय देवनागरी में बदलकर पढ़ना पसंद करता हूं। दो दिन पहले मुझे भूतनाथ साहब की यह मेल मिली-

aashish bhaayi ,

Ranchi kee blogar meet men shailesh ji ne ek aise online ya offline software kaa naam bataya tha….jismen isi tarah roman men hindi likhkar vahaan jaakar copy paste karte hi font devnagri men badal jate hain….mujhe isi tarah likne men sahuliyat hoti hai, kripya us site ya software kee detail den naa please….iske liye main aapkaa aabhaari rahungaa…..!!


मैंने इस मेल को क्विलपैड एडिटर की मदद से आसानी से देवनागरी में यूं बदल लिया-

आशीष भाई ,

राँची की ब्लॉगर मीट में शैलेश जी ने एक ऐसे ऑनलाइन या ऑफलाइन सॉफ्टवेर कॅया नाम बताया था….जिसमें इसी तरह रोमन में हिन्दी लिखकर वहाँ जाकर कॉपी पेस्ट करते ही फ़ॉन्ट देवनागरी में बदल जाते हैं….मुझे इसी तरह लिकने में सहूलियत होती है, कृपया उस सीटे या सॉफ्टवेर की डीटेल दें ना प्लीज़….इसके लिए मैं आपका आभारी रहूँगा…..!!


इंटरनेट पर उपलब्ध अन्य औज़ारों के मुकाबले मुझे क्विलपैड का औज़ार ज़्यादा काम का लगता है और इसमें अशुद्धियां दूर करने की आसान सी सुविधा मौजूद है (यहां उदाहरण दिखाने के लिए मैंने एक भी शब्द को शुद्ध नहीं किया है)। इसके अलावा आप यहां से अपनी सामग्री को सेव कर सकते हैं, प्रिंट कर सकते हैं या सीधे ही ई-मेल कर सकते हैं। साथ ही यहां अधिकांश प्रादेशिक भाषाओं के विकल्प भी हैं।

क्विलपैड एडिटर पर जाने के लिए यहां क्लिक करें।

इसे इस्तेमाल करना बहुत आसान है। ऊपर लिंक पर क्लिक करते ही एक बॉक्स खुलेगा। रोमन में सामग्री को कॉपी कर यहां पेस्ट कर दीजिए। कुछ समय में यह अपने आप देवनागरी में होगी।

इस एडिटर की बस एक कमी मुझे अखरती है और वह यह कि इसमें रोमन सामग्री को पेस्ट करने के बाद कुछ मिनट तक इंतज़ार करना पड़ता है और तभी जाकर सामग्री देवनागरी में बदलती है। आप इसे आजमाइए और मुझे बताइए कि आपको यह कितने काम का लगा।

आप क्विलपैड विजेट को अपने ब्लॉग पर भी लगा सकते हैं।

चलते-चलते

आपको आज ब्लॉगर खोलते ही डैशबोर्ड पर एक सूचना मिली होगी-



हितेश जी ने सुबह मेल कर मेरा ध्यान इस ओर दिलाया। अगर आप इस संदेश के आगे enable now पर क्लिक करेंगे तो इसका अर्थ यह है कि भविष्य में ब्लॉगर की ओर से जारी फीचर अनाउंसमेंट और टिप्स सीधे ही आपको मेल बॉक्स में मिलेंगे। अगर आपको ऐसी मेल नहीं चाहिए तो क्रॉस पर क्लिक कीजिए।

नई जानकारी के साथ फिर मिलेंगे.. हैपी ब्लॉगिंग.




क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Saturday, September 12

हिन्दी-अंग्रेज़ी शब्दों के अनुवाद के लिए बहुत आसान विजेट (English-Hindi Dictionary Widget)

पिछले साल हिन्दी ब्लॉग टिप्स पर एक ऐसा डिक्शनरी विजेट जारी किया गया था, जो शब्दकोश डॉट कॉम की मदद लेकर हिन्दी शब्दों के अंग्रेजी अर्थ व अंग्रेजी शब्दों के हिन्दी अर्थ उपलब्ध कराता था। इस विजेट की कमी यह थी कि इसमें अर्थ एक नई विंडो में ओपन होते थे, जो असुविधाजनक था। इसी कमी को दूर करते हुए हिन्दी ब्लॉग टिप्स ब्लॉगर साथियों के लिए दो ऐसे डिक्शनरी विजेट जारी कर रहा है, जो इंटरनेट पर उपलब्ध संसाधनों से हिन्दी-अंग्रेजी अर्थ विजेट के भीतर ही लाते हैं।

देखिए ये कैसे काम करते हैं- (ई-मेल या फीड रीडर के जरिए पोस्ट पढ़ने वाले साथी इस विजेट को देखने के लिए यहां क्लिक करें)





bab.la विजेट
अंग्रेज़ी-हिन्दी शब्द अनुवाद


shabdkosh विजेट
अंग्रेज़ी-हिन्दी शब्द अनुवाद




विजेट का लाइव डेमो इस टेस्ट ब्लॉग की साइडबार में देखें।

अगर आप इनमें से किसी भी विजेट को अपने ब्लॉगर ब्लॉग की साइडबार में लगाना चाहते हैं तो मनचाहे विजेट के नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कीजिए और निर्देशों का अनुसरण कीजिए। विजेट आपके ब्लॉग पर होगा।

वर्डप्रेस व अन्य ब्लॉग/वेबसाइट संचालक अगर इसे इस्तेमाल करना चाहते हैं तो कृपया टिप्पणी छोड़ दीजिए। कोड उपलब्ध करा दिया जाएगा।

उपरोक्त विजेट बाब.ला और शब्दकोश वेबसाइटों की मदद से ब्लॉगर साथियों के लिए तैयार किए गए हैं। ब्लॉगिंग को उन्नत बनाने वाली जानकारी के साथ फिर मिलेंगे.. हैपी ब्लॉगिंग.




क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Thursday, September 10

एक और बर्थ-डे गिफ्ट - ब्लॉगर पर "Read More" विकल्प आ गया

ब्लॉग के पहले पेज पर प्रविष्ठि की चंद पंक्तियां दिखाएं और शेष पढ़ने के लिए "Read More" बटन का उपयोग करें। ऐसा आपको हिन्दी ब्लॉग टिप्स के होमपेज पर दिखता होगा। मैंने पहले इस पोस्ट के जरिए "Read More" अपने ब्लॉग पर लगाने की जानकारी दी थी, जिसमें टेम्पलेट के एचटीएमएल में कुछ फेरबदल करना होता था।

जो साथी एचटीएमएल में फेरबदल करना पसंद नहीं करते, उनके लिए अब खुशखबरी है। ब्लॉगर ने अपने दसवें जन्मदिन के तोहफों की शृंखला में यह सुविधा बहुत आसान बना दी है। अगर आप यह सुविधा अपने ब्लॉग पर लागू करना चाहते हैं तो ब्लॉगर के आधिकारिक ब्लॉग की यह पोस्ट पढ़ें।

साथियों की सुविधा के लिए इसे हिन्दी में आसान तरीके से स्पष्ट किया जा रहा है।

सबसे पहले यह देख लीजिए कि आपको अपने होमपेज पर यह सुविधा इस तरह दिखेगी। आप अपनी मर्जी के अनुसार स्थान पर "Read More" लगा पाएंगे।



अगर आप एडवांस्ड पोस्ट एडिटर का इस्तेमाल कर रहे हैं तो नीचे दिए गए टैब को देखिए। यह Insert Jump Break है और पोस्ट में जिस जगह पर आप यह लागू करना चाहते हैं वहां इस बटन को दबा दीजिए।



जो पुराने पोस्ट एडिटर का इस्तेमाल कर रहे हैं उन्हें एचटीएमल मोड में आकर पोस्ट के बीच में यह कोड़ चस्पा करना होगा-

<!-- more -->



यह पोस्ट प्रकाशित होते ही यह Read More>> के रूप में दिखने लगेगा।

क्या आप "Read More" की जगह पर हिन्दी में अपनी मनचाही पंक्ति लिखना चाहते हैं? यह भी आसानी से हो सकता है।

इसके लिए आप Layout मे जाइए। इसके बाद आपको यहां Blog Post वाला बक्सा दिखेगा। इसके Edit पर क्लिक करते ही इस तरह की विंडो खुलेगी। यहां अपने मनचाहे शब्द लिखे जा सकते हैं।



नोटः इस विधि से केवल वे पोस्ट ही संक्षेप में दिखेंगी, जिनमें आपने कोड लगाया है। पिछली पोस्ट को इस फॉर्मेट में लाने के लिए एक-एक पोस्ट को एडिट करना होगा, जो बहुत समय लेने वाला काम है।

समस्या होने पर आप टिप्पणियों के जरिए संपर्क कर सकते हैं.. हैपी ब्लॉगिंग




क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Monday, September 7

वाह, अब ब्लॉगर पर भी एडवांस्ड पोस्ट एडिटर

हाल ही ब्लॉगर ने पोस्ट एडिटर का एडवांस्ड वर्जन जारी किया है। इसमें पुराने पोस्ट एडिटर के मुकाबले कई फीचर ज्यादा हैं। एडवांस्ड पोस्ट एडिटर में अब इम्प्रूव्ड इमेज हैंडलिंग, इम्प्रूव्ड रॉ एचटीएमएल, जियोटैगिंग, पोस्ट एडिटर को ऊर्ध्वाधर करने की सुविधा, कम्पोज मोड में लिंक एडिटिंग, बेहतर प्रिव्यू ड्रेग कर लगाए जाने वाले एलिमेंट और एडवाडंस्ड टूलबार की सुविधाएं हैं।

देखिए यह कैसा दिखता है-



इसे अपने ब्लॉग पर लगाना बहुत आसान है।

1. ब्लॉग का डैशबोर्ड खोलिए।

2. सैटिंग्स टैब पर जाइए।


3. खुलने वाले पेज पर थोड़ा नीचे जाने पर global Settings मिलेगा। यहां Select post editor को Updated editor विकल्प पर सैट कीजिए और सेविंग्स को सेव कर दीजिए।



इस तरह आपने अपने पोस्ट एडिटर को उन्नत कर लिया है।

ब्लॉगिंग को उन्नत बनाने वाले किसी और विचार के साथ फिर मिलेंगे.. हैपी ब्लॉगिंग.




क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!
हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Saturday, September 5

ग्रुप ई-मेल भेजने वाले साथियो, कहीं ऐसा न हो की जीमेल अकाउंट डिसेबल हो जाए

आज एक ब्लॉगर साथी की आपातकालीन कॉल आई। कुछ घबराए हुए लग रहे थे। उनका जीमेल अकाउंट कुछ समय के लिए अक्रिय कर दिया गया था। संदेश में लिखा था कि उन्होंने जीमेल का असामान्य प्रयोग किया है और कुछ समय के लिए उनके जीमेल खाते को ताला लगा दिया गया है। अब यह 24 घंटे के बाद फिर शुरू हो सकेगा।


उनकी समस्या यह थी कि दफ्तर की एक ज़रूरी मेल आने वाली थी और अब वे चाहकर भी उसे नहीं पढ़ सकते थे। मैंने कारण जानने की कोशिश की कि आखिर ऐसा क्यों हुआ। कारण इस नतीजे के रूप में सामने आया।

दरअसल उन्होंने 500 से ज्यादा साथियों को एक ग्रुप मेल भेज दी थी। इसी के चलते ऐसा हुआ।

गूगल ने स्पैम औऱ जीमेल के अन्य दुरुपयोग को रोकने के लिए कुछ नीतियां बनाई हैं। ये नीतियों की जानकारी सभी जीमेल प्रयोक्ताओं को हों इसी उद्देश्य से इन्हें यहा विस्तार से दिया जा रहा है।

1. अगर एक बार में 500 से ज्यादा लोगों को ग्रुप मेल कर दी जाए तो गूगल टेम्परेरेरी रूप से अकाउंट को 24 से 72 घंटे के लिए डिसेबल कर देता है और संदेश आता है Error: "Gmail Lockdown in Secton 4"
(अच्छा हुआ कि इस बहुचर्चित मामले में यह आंकड़ा 469 ही था)।

2. भेजने वाले पतों को ठीक से जांचना बेहद जरूरी है। अगर 25 या इससे ज्यादा पतों से आपकी मेल लौटकर आ गई तो समझ लीजिए कि आपका अकाउंट टेम्परेरी डिसेबल हो सकता है।

3. यह भी ध्यान में रखा जाना चाहिए कि अगर आपने नौ महीने के समय तक अपने जीमेल खाते में एक बार भी लॉग-इन नहीं किया तो जीमेल आपके खाते को हमेशा के लिए रद्द कर देता है और ई-मेल पता किसी दूसरे यूजर को जारी कर देता है।

जीमेल की इन नीतियों की जानकारी यहां क्लिक कर भी ली जा सकती है।
फिर मिलेंगे.. हैपी ब्लॉगिंग.




क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Thursday, September 3

ब्लॉग पर यह कैसी चैरिटी??

ब्लॉगर ने दसवीं वर्षगांठ के सिलसिले में जारी किए जाने वाले तोहफों में एक और विजेट की जानकारी दी है। ब्लॉगर के आधिकारिक ब्लॉग पर इस पोस्ट से पता चला कि एक ऐसा नया विजेट आया है, जो आपके ब्लॉग के जरिए सच्ची चैरिटी करता है। मुझे आइडिया अच्छा लगा, क्योंकि जब हिन्दी चिट्ठों से कमाई नहीं हो रही, तो कम से कम चैरिटी ही की जाए। चैरिटी भी ऐसी कि आपको या पाठक को अपनी जेब से कुछ नहीं देना पड़े।

यह चैरिटी है सोशलवाइब नेटवर्क के जरिए। पाठक को बस इस विजेट पर दिखाए जाने वाले वीडियो या अन्य सामग्री की रेटिंग करनी है। और इसके बदले यह नेटवर्क उस वीडियो मालिक से रकम लेकर आपकी पसंद के चैरिटी संस्थान को दे देता है। आपको तुरंत यह भी पता चल जाता है कि आपके पाठकों ने कितनी चैरिटी की है। आप जब चाहें अपना सोशल कॉज और चेरिटी दाता को बदल सकते हैं।

मैं इस तरह की चैरिटी से इस वजह से निराश हुआ, क्योंकि जब मैंने इस विजेट को इस टेस्ट ब्लॉग पर लगाकर आजमाया तो वहां मुझे एक चैरिटी करने के बदले एक वीडियो दिखाए जाने की पेशकश हुई। जब मैंने इस वीडियो को खोला तो वहां बिकनी में एक मॉडल दिखाई गई थी। मैंने जैसे-तैसे इस असभ्य वीडियो को रेट किया और अपने विजेट में देखा तो पता चला कि मैंने ज़रूरतमंद बच्चों के लिए 75 मिनट पढ़ाई का पैसा दान में दे दिया है।

ऐसा नहीं है कि इस विजेट के सभी वीडियो इसी तरह के हैं। आप चाहें तो इस विजेट को अपने ब्लॉग पर लगा सकते हैं। इसे लगाने का तरीका- (विजेट का डेमो यहां है)
1. डैशबोर्ड पर लेआउट का विकल्प चुनिए।

2. एड ए गैजेट पर क्लिक कीजिए।

3. नीचे तस्वीर में दिखाए अनुसार Add your own पर क्लिक कीजिए।


4. यहां खुलने वाली विंडो में यूआरएल के रूप में

http://www.socialvibe.com/s/blogger/gadget

भर दें।

5. विजेट के विकल्प सैट करने के बाद इसे सेव कर दें।

इस तरह यह विजेट आपके ब्लॉग पर लग जाएगा।

अगर आपको यह विजेट पसंद आता है तो इसे ब्लॉग पर लगाइए और चैरिटी कीजिए.. हैपी ब्लॉगिंग.




क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Saturday, August 29

पिछली 25 पोस्ट तक एक साथ दिखाने वाला विजेट


क्या आप ब्लॉगर पर महीने के हिसाब से पोस्ट दिखाने वाले विजेट से परेशान हैं। तब तो यह आकर्षक विजेट आपके काम का हो सकता है। इसकी मदद से आप अपनी पिछली प्रविष्ठियां साइडबार में दिखा सकते हैं। दिखाए जाने वाली प्रविष्ठियों की संख्या का चुनाव अपने हिसाब से कर सकते हैं। यानी 1 से लेकर 25 तक कुछ भी। थंबनेल दिखा सकते हैं और उनके साथ कमेंट की संख्या भी दिखा सकते हैं। यानी सब कुछ कस्टमाइज करना चुटकियों का खेल है।

पहले इस विजेट का डेमो इस टेस्ट ब्लॉग की साइडबार में देखिए-

अब जानते हैं इसे लगाने का तरीका-

सबसे पहले ब्लॉग के लेआउट पर जाइए और एड ए विजेट पर क्लिक कीजिए।

इस तस्वीर में दिखाए गए Featured टैब पर क्लिक कीजिए।



यहां आपको ऊपर से छठे स्थान पर Recent Posts विजेट दिख रहा होगा। इसके सामने + पर क्लिक कीजिए।



यहां खुलने वाली विंडो में अपने ब्लॉग का पता भरिए व अन्य सैटिंग अपनी मर्जी के अनुसार कीजिए।


सैव करते ही यह आकर्षक विजेट आपके ब्लॉग पर होगा।

यहां आप ताज़ा टिप्पणियां, ट्विटर अपडेट जैसे विजेट भी पा सकते हैं।

पिछले महीने से ब्लॉगर ने विजेट निर्माताओं को अपना विजेट बनाकर ब्लॉगर के मंच पर लाने की सुविधा दी है, जिससे उनका फायदा सभी ब्लॉगर साथियों को मिल सके। इसी के तहत बाहरी वेबसाइटों ने ये विजेट तैयार किए हैं।

तो आजमाइए इस विजेट को.. हैपी ब्लॉगिंग.




क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Wednesday, August 26

ब्लॉगर पर नई सुविधा- लेबल क्लाउड (label cloud)

ब्लॉगर सेवा के दस साल पूरे होने के साथ ही चिट्ठाकारों को नई सौगातें मिलने का सिलसिला शुरू हो गया है। ब्लॉगर संचालित चिट्ठों पर लेबल क्लाउड की बहुप्रतीक्षित मांग अब पूरी हो गई है। इससे पहले ब्लॉगर पर लेबल केवल टेबल के रूप में प्रदर्शित किए जाने की सुविधा थी, लेकिन अब इसे क्लाउड के रूप में भी आसानी से लगाया जा सकता है। ब्लॉगर ने गैजेट के रूप में इस सुविधा का विस्तार किया है।

वर्डप्रेस व अन्य सेवाएं लेबल क्लाउड की सुविधा पहले से दे रही हैं। ब्लॉगर पर कारस्तानी अब तक केवल कोड में हेरफेर से संभव थी, लेकिन अब इसे एक सुविधा के रूप में जोड़ दिया गया है।


अगर आप भी अपने चिट्ठे पर लेबल क्लाउड के रूप में दिखाना चाहते हैं तो ब्लॉग का डैशबोर्ड खोलिए। लेआउट फीचर में जाइए। साइडबार में एड ए गैजेट पर क्लिक कीजिए और लेबल्स विकल्प को चुनिए। वहां आपको ऐसी विंडो दिखेगी-


जैसे ही आप लिस्ट के स्थान पर क्लाउड विकल्प चुनकर सैटिंग्स सेव करेंगे आपको लेबल क्लाउड के रूप में दिखने लगेंगे।

साथ ही यहां आप दिखाए जाने वाले लेबल्स की संख्या पर भी आसानी से नियंत्रण रख सकते हैं।

थैंक्स ब्लॉगर.. हैपी ब्लॉगिंग :-)




क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Saturday, August 22

गणेश चतुर्थी पर खास विजेट आपके ब्लॉग पर

कर्सर के साथ मूविंग गणेशजी अपने ब्लॉग पर लगाने के लिए नीचे बटन पर क्लिक कीजिए-
रविवार (23 अगस्त, 2009) को गणेश चतुर्थी के अवसर पर हिन्दी ब्लॉग टिप्स आपके लिए यह खास विजेट लाया है। इस विजेट को लगाते ही आपके ब्लॉग पर कर्सर के साथ गणेशजी की तस्वीर नजर आने लगेगी (केवल 22 और 23 अगस्त तक प्रभावी)। अगर आप स्वतंत्रता दिवस पर मूविंग तिरंगे वाला विजेट लगा चुके हैं तो आपको यह विजेट फिर से लगाने की कोई जरूरत नहीं। आपके ब्लॉग पर आपको गणेशजी स्वतः ही दिख रहे होंगे।

अगर आप इसे अपने ब्लॉग पर लगाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कीजिए और निर्देशों का अनुसरण करते ही यह आपके ब्लॉगर ब्लॉग पर होगा।


अगर आप किसी अन्य ब्लॉग या वेबसाइट पर इसे लगाना चाहते हैं तो यह कोड इस्तेमाल कीजिए-

<script language="JavaScript" src="http://ashishkk.110mb.com/mousecursor.js"></script>


विजेट की विशेषताएं-

  • यह विजेट केवल किसी खास त्योहार या उत्सव के आधार पर ही तैयार नहीं है। अगर आप इस विजेट को अपने ब्लॉग पर लगाते हैं तो आपको हर खास दिन (जैसे स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस, होली, रक्षाबंधन, जन्माष्टमी, गणेश चतुर्थी, गांधी जयंती, नवरात्रा स्थापना, दशहरा, दिवाली, गुरु नानक जयंती, क्रिसमस आदि) माउस कर्सर के साथ उस दिन को यादगार बनाने वाली छोटी तस्वीर दिखेगी।

  • सबसे खास बात यह कि आपको यह विजेट केवल एक बार अपने ब्लॉग पर लगाना है। उसके बाद आपको इसमें कुछ भी फ़ेरबदल करने की ज़रूरत नहीं। यह अपने आप दिन की खासियत के हिसाब से तस्वीर आपके सामने पेश करेगा।


  • जब कुछ खास नहीं होगा तो आपको कर्सर के साथ कोई तस्वीर नहीं दिखेगी। खास दिन होने पर आपके कर्सर के साथ नई तस्वीर स्वतः प्रकट हो जाएगी।


  • अगर आपको किसी खास दिन कोई तस्वीर पसंद नहीं आती तो आप इस विजेट को आसानी से अपने ब्लॉग से हटा सकते हैं।


  • इस विजेट में बहुत ही छोटी स्क्रिप्ट काम में ली गई है, जो पलक झपकते ही लोड होती है। इसलिए यह आपके ब्लॉग के खुलने की स्पीड पर न के बराबर असर डालता है।


गणेश चतुर्थी की बहुत-बहुत शुभकामनाएं। हैपी ब्लॉगिंग :-)







क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Saturday, August 15

469 से मिन्नतें, टिप्पणियां केवल 15.. ब्लॉगर साथियो बहुत नाइंसाफ़ी है..

अगर आपने ब्लॉग पर अपना ई-मेल पता सार्वजनिक किया है, तो आपके पास भी अनजान लोगों के इस तरह के मेल आते होंगे कि हमारी पोस्ट पढ़िए, उस पर कमेंट कीजिए। जब आप सेंडर का नाम देखते हैं तो पता चलता है कि आप उसे कभी नहीं जानते, फिर भी ऐसे लोगों के मेल आपको लगातार मिलते रहते हैं।

कल मुझे एक मेल मिला, जिसमें एक सज्जन (सदाशयता के नाते नाम नहीं प्रकाशित किया जा रहा है) ने अपनी पोस्ट पढ़ने की मिन्नत के तहत 469 लोगों को मेल किया है (अगर आपका मेल पता सार्वजनिक है तो मुझे उम्मीद है कि वह यहां जरूर होगा और आपको भी यह मेल मिला होगा)। मुझे अचंभा इस बात पर हो रहा है कि इन सज्जन को इस लिस्ट को बनाने में कितनी मेहनत हुई होगी, लेकिन इस मेल के 18 घंटे बीत जाने के बाद उनकी पोस्ट पर केवल 15 टिप्पणियां ही मौजूद हैं।

आप खुद देखिए यह लिस्ट और मेल (सदाशयता के नाते नाम नहीं प्रकाशित किया जा रहा है और साथियों के ई-मेल पते काटे गए हैं ताकि इनका गलत इस्तेमाल नहीं हो)




अब ऐसे साथी मेरी इस अपील को पढ़ लीजिए-

कृपया सामूहिक मेल में हमारा ई-मेल पता रवाना मत कीजिए, क्योंकि इस तरह यह गलत लोगों (स्पेमर) के हाथ पड़ जाता है और फिर हमारे पास अनचाही मेल का सिलसिला शुरू हो जाता है।

दूसरी बात यह कि हम अक्सर इस तरह के मेल संदेशों को स्पेम कर देते हैं, यानी आपसे मिलने वाली सभी ई-मेल हमारे स्पेम बॉक्स में जाती हैं और उन्हें हम नहीं पढ़ते। अब सोचिए कि अगर आपने कभी कोई जरूरी मेल भी भेजी तो वो भी हम नहीं पढ़ पाएंगे। यानी आपका-हमारा संपर्क हमेशा के लिए खत्म।

सभी चिट्ठाकार या पाठक अच्छी तरह से जानते हैं कि उन्हें क्या पढ़ना है और क्या नहीं। ऐसे में इस तरह की मेल आपकी प्रतिष्ठा को धूमिल भी कर सकती है।

चलते-चलते एक और सज्जन की कारगुजारी देखिए-




इन सज्जन ने अपनी ई-मेल सब्सक्रिप्शन लिस्ट की संख्या बढ़ाने के लिए जबरन मेरा ई-मेल पता भरकर मुझे आमंत्रण भेजा, जिससे मैं सीधे ही क्लिक कर इनका सब्सक्राइबर बनूं। मैंने इस मेल को भी डिलीट कर दिया है।

मैंने यह पोस्ट खरे शब्दों में लिखी है, कृपया कोई साथी इसे अन्यथा न ले। आपके इस बारे में क्या विचार हैं मैं जानने को उत्सुक हूं।

स्वाधीनता दिवस की शुभकामनाएं.. हैपी ब्लॉगिंग




क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Tuesday, August 11

माउस कर्सर के साथ मूविंग इमेज

कर्सर के साथ मूविंग इमेज के लिए नीचे बटन पर क्लिक कीजिए और विजेट होगा आपके ब्लॉग पर
भारतीय संस्कृति की पहचान है यहां के उत्सव और त्योहार। अब आप अपने ब्लॉग को हर आगामी उत्सव और त्योहार के रंग में आसानी से रंग सकते हैं। हिन्दी ब्लॉग टिप्स आपके लिए यह खास विजेट लाया है, जिसे एक क्लिक पर अपने ब्लॉग पर संस्थापित किया जा सकता है। यह विजेट लगाने के बाद कोई खास अवसर आते ही अपने आप आपको माउस कर्सर के साथ एक छोटी सी आकर्षक तस्वीर नजर आएगी और यह कर्सर के साथ मूव करती रहेगी। खास अवसर के बीत जाने के बाद यह अपने आप गायब हो जाएगी और आपको सैटिंग्स में कुछ भी बदलाव नहीं करना पड़ेगा। अगला उत्सव आते ही आपको उससे जुड़ी इमेज फिर से स्वतः ही नजर आने लगेगी।

इस तरीके से आप अभी तक स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा और गणेश चतुर्थी पर गणेशजी का लोगो अपने कर्सर के साथ देख चुके हैं। आगामी त्योहारों और उत्सवों पर भी इसी तरह खास तस्वीर आपके ब्लॉग पर दिखाई देती रहेगी।

अगर आप इसे अपने ब्लॉग पर लगाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कीजिए और निर्देशों का अनुसरण करते ही यह आपके ब्लॉगर ब्लॉग पर होगा।


अगर आप किसी अन्य ब्लॉग या वेबसाइट पर इसे लगाना चाहते हैं तो यह कोड इस्तेमाल कीजिए-

<script language="JavaScript" src="http://ashishkk.110mb.com/mousecursor.js"></script>


विजेट की विशेषताएं-

  • यह विजेट केवल किसी खास त्योहार या उत्सव के आधार पर ही तैयार नहीं है। अगर आप इस विजेट को अपने ब्लॉग पर लगाते हैं तो आपको हर खास दिन (जैसे स्वतंत्रता दिवस, गणतंत्र दिवस, होली, रक्षाबंधन, जन्माष्टमी, गणेश चतुर्थी, गांधी जयंती, नवरात्रा स्थापना, दशहरा, दिवाली, गुरु नानक जयंती, क्रिसमस आदि) माउस कर्सर के साथ उस दिन को यादगार बनाने वाली छोटी तस्वीर दिखेगी।

  • सबसे खास बात यह कि आपको यह विजेट केवल एक बार अपने ब्लॉग पर लगाना है। उसके बाद आपको इसमें कुछ भी फ़ेरबदल करने की ज़रूरत नहीं। यह अपने आप दिन की खासियत के हिसाब से तस्वीर आपके सामने पेश करेगा।


  • जब कुछ खास नहीं होगा तो आपको कर्सर के साथ कोई तस्वीर नहीं दिखेगी। खास दिन होने पर आपके कर्सर के साथ नई तस्वीर स्वतः प्रकट हो जाएगी।


  • अगर आपको किसी खास दिन कोई तस्वीर पसंद नहीं आती तो आप इस विजेट को आसानी से अपने ब्लॉग से हटा सकते हैं।


  • इस विजेट में बहुत ही छोटी स्क्रिप्ट काम में ली गई है, जो पलक झपकते ही लोड होती है। इसलिए यह आपके ब्लॉग के खुलने की स्पीड पर न के बराबर असर डालता है।


तो दीजिए अपने ब्लॉग को नया अंदाज इस खास विजेट के साथ। हैपी ब्लॉगिंग :-)





क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

Thursday, August 6

ऑफलाइन हिन्दी लिखने के औज़ार (कमेंट बॉक्स में सीधे ही हिन्दी टाइप कैसे करें)

कई दिनों से कुछ साथी पूछ रहे थे कि वे यूनीकोड हिन्दी में ऑफलाइन टाइप कैसे करें। यानी नेट कनेक्शन काम नहीं करने की अवस्था में हिन्दी में कैसे लिखा जाए। या कमेंट करते वक्त सीधे ही हिन्दी में टाइप कैसे करें। प्रकाश गोविन्द जी ने इस सवाल के साथ अनुरोध किया कि इस पर एक पोस्ट ही लिख दी जाए। पूजा उपाध्याय जी से विशेष माफी चाहूंगा कि उनकी इस जिज्ञासा पर कई महीनों बाद पोस्ट लिख पा रहा हूं।

वैसे तो ऑफलाइन हिन्दी लिखने के लिए कई साधन इंटरनेट पर मौजूद हैं, लेकिन मेरी पसंद के दो सर्वश्रेष्ठ साधन हैं-

बारहा

इंडिक आईएमई


आप इन्हें डाउनलोड कीजिए (नाम पर क्लिक कीजिए) और ज्यादा जानकारी लिंक 1 और लिंक 2 से पा सकते हैं।

इस विषय पर विस्तार से इसलिए नहीं लिख रहा हूं क्योंकि पहले ही गुणीजन इन पर काफी कुछ लिख चुके हैं और इनकी तुलनात्मक समीक्षा भी कर चुके हैं।

बारहा, हिन्दीराइटर तथा इंडिक IME की तुलनात्मक समीक्षा

बाराहा नही भई वाह! वाह! बोलिये

हैक - बरहा, कैफे हिन्दी आदि द्वारा एम एस‌ वर्ड में हिन्दी टाइप करना

बाराहा का नया संस्करण

आप इन्हें आजमाइए और अपने अनुभव बताइए। परेशानी की स्थिति में टिप्पणी के जरिए बेहिचक संपर्क कीजिए। हैपी ब्लॉगिंग :)




क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!