Thursday, November 12

कृपया राय दीजिए, मुझे क्या करना चाहिए?

बहुत दिन से सोच रहा हूं कि नौकरी बदल ही लूं। आज थोड़ी फुरसत मिलने पर नेट खंगाला तो मुझे मेरे लायक केवल एक ही नौकरी दिखी। साथ ही एक आत्मनिर्भर होने वाले व्यवसाय का भी पता चला। अब मैं इन दोनों में से किसी एक के लिए अपनी किस्मत आजमाने के बारे में विचार कर रहा हूं। मैं फैसला नहीं कर पा रहा हूं कि दोनों में से क्या चुनूं। आपसे गुज़ारिश है कि आप दोनों की डिटेल पढ़ें और उसके बाद मुझे राय दें कि मुझे दोनों में से क्या चुनना चाहिए।

1. सेकिंड बेस्ट जॉब ऑफ द वर्ल्ड-

यह नौकरी फ्रांसीसी वेबसाइट letsbuyit.com दे रही है। इस ऐश भरी नौकरी के दौरान आप वेबसाइट के खर्चे पर दुनिया के सात खूबसूरत शहरों की सैर कर सकते हैं। इस नौकरी की कैंपेन कल यानी बुधवार से लॉन्च की गई है। वेबसाइट के आयोजक एक 'इंटरनेशनल शॉपिंग कंसल्टेंट' की तलाश कर रहे हैं। वेबसाइट ने विजेता को एक महीने तक मुफ्त में दुनिया के सात खूबसूरत शहरों (बर्लिन, हांगकांग, लंदन, मिलान, न्यूयॉर्क, पेरिस और टोक्यो) की सैर कराने का ऐलान किया है। इस दौरान उसे 5000 यूरो का आकर्षक पैकेज भी दिया जाएगा। विजेता के रहने-खाने, घूमने-फिरने और हवाई यात्रा का खर्च वेबसाइट उठाएगी। यही नहीं, उसे पूरे महीने कुल 10 हजार यूरो तक की शॉपिंग करने की भी आजादी मिलेगी। आवेदन की प्रक्रिया भी बेहद आसान है। सबसे पहले आपको एक वीडियो टेप तैयार करना होगा, जिसमें आप इस पद के लिए अपनी खूबियां गिनाएंगे। इसके बाद दमदार बायोडाटा के साथ इस फुटेज को अटैच करके 14 दिसम्बर तक 'लेट्स बाय इट डॉट कॉम' पर भेजना होगा।

बतौर 'इंटरनेशनल शॉपिंग कंसल्टेंट' विजेता महीने भर इंटरनेट उपभोक्ताओं से ब्लॉग के जरिए अपने अनुभव बांटेगा। इसमें वह बर्लिन, हांगकांग, लंदन, मिलान, न्यूयॉर्क, पेरिस और टोक्यो के शॉपिंग कल्चर की तुलना करेगा। साथ ही यह भी बताएगा कि किस शहर में सबसे सस्ती और टिकाऊ चीजें मिलती हैं। दुकानदारों से मोलभाव की संभावना कहां सबसे ज्यादा है, यह जानना भी विजेता के ही जिम्मे होगा।

गौरतलब है कि इससे पहले क्वींसलैंड टूरिज्म ने द ग्रेट बैरियर रीफ पर पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए 'बेस्ट जॉब इन द वर्ल्ड अभियान चलाया था। इसके तहत विभाग को हैमिल्टन द्वीप के केयरटेकर की तलाश थी।

2. हिट मी जॉब -

चीन में एक शख्स ने अनोखा पार्टटाइम व्यवसाय चुना है और मुझे भी यह व्यवसाय मेरे लिहाज से उपयुक्त लग रहा है।

यह चीनी पुरुष खुद को पंचबैग के रूप में उन महिलाओं के लिए उपलब्ध कराने की पेशकश कर रहा है, जो किसी पुरुष को पीटने की ख्वाहिश रखती हैं। उत्तर-पूर्वी चीन के शेनयांग के जियाओ लिन नाम का यह शख्स एक जिम का कोच है। उसने तनावग्रस्त महिलाओं को अपनी भड़ास निकालने के लिए खुद को एक पंचबैग की तरह इस्तेमाल करने के लिए पेश किया है। लिन को आधे घंटे तक पीटने के लिए महिलाओं को करीब सात सौ रुपए खर्च करने पड़ते हैं। इस नए कारोबार के बारे में लिन ने अपने परिवार को नहीं बताया है। लिन का कहना है कि महिलाओं के लिए पंचबैग बनकर वे कुछ पैसे भी कमा लेते हैं। इसके साथ-साथ खुद को बचाने की कला में भी उन्हें निपुणता हासिल हो रही है। इस सेवा का लाभ उठाने के लिए उनके पास ग्राहक भी आने लगे हैं। लिन के अनुसार उनकी पहली ग्राहक 25 साल की लड़की है। उसने आधा घंटे की कीमत अदा की। लेकिन वह जल्द ही थक गई। उसने बाकी समय उनके साथ बातचीत करके निकाला। दूसरी ग्राहक भी ऐसी ही थी। वह भी जल्द ही थक गई। लेकिन लिन को पीटने के बाद दोनों ही बहुत संतुष्ट दिखाई दीं। उनका कहना है कि ऐसा करके वह तनावग्रस्त महिलाओं की मदद कर रहे हैं।

अब आप ही बताइए कि मैं यह नौकरी करूं या यह व्यवसाय?

हैपी ब्लॉगिंग







क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

50 comments:

  1. हाहाहा :) क्या जॉब्स ढूंढ़ के लाये हैं आशीष जी... आप तो "सेकिंड बेस्ट जॉब ऑफ द वर्ल्ड" के लिये अप्लाई कर दीजिये... घूमने का घूमना और शौपिंग की शौपिंग और उसपे भी 5000 यूरो का आकर्षक पैकेज... क्या बात है!!!

    ReplyDelete
  2. दोनों कार्य एक साथ भी किये जा सकते हैं।
    आपका पहला प्रतिद्वंदी मैं हूं, अभी और भी आते ही होंगें।

    प्रणाम

    ReplyDelete
  3. नौकरी न कीजिये, घास खोद खाईये
    हमारी राय में तो आप अपना व्यवसाय ही करे तो सही है :)

    आप तनावग्रस्त महिलाओं की मदद करें तो भला है
    (लेकिन ये सेवा तनावग्रस्त पुरुषों के लिये कभी भी भूल कर उपलब्ध नहीं कराईयेगा...)

    ReplyDelete
  4. देखो जी खुद का इस तरह का व्यवसाय तो हम शुरु से करते आरहे हैं. भाटिया जी की मेहरवानी से. दो दो मेड-इन-जर्मन हैं.:)

    आप तो इस नौकरी का ही जोगाड लगवा दिजिये.:)

    रामराम.

    ReplyDelete
  5. बहुत खूब , लेकिन आज आलोचना नहीं मेरे पास, क्‍योंकि यह शिशु भी Rank-3 में शामिल हो गया, इसलिये बस मुस्‍कुराना और मुस्‍कुराना के अतिरिक्‍त और कुछ नहीं,

    ReplyDelete
  6. दुसरे वाला जॉब ठीक रहेगा....कल को काम ही आएगा साथ में ट्रेनिंग भी हो जायेगी....

    ReplyDelete
  7. बहुत खूब बढिया कूब चुना है आपने ..इसके लिए कोइ विजेट भी बना लीजिये न ..तो और भी बेहतर रहेगा

    ReplyDelete
  8. अगर भविष्य की चिन्ता है तो दूसरा वाला ज्यादा अच्छा है। कमाई तो होगी ही पिटने का अभ्यास भी अच्छा हो जायेगा। बगवान ना करे अगर भविष्य में पिटना पड़े तो ज्यादा तकलीफ भी नहीं होगी।
    :)

    ReplyDelete
  9. aap yeh punch bag wala job kar lijiye..... kam se kam maar khaane ke baad khoobsoorat ladkiyon ka saath bhi milega....to sara dard waise hi door ho jayega..... hahahahahaha....... aur paise to khair milenge hi milenge..... hahahaha......

    ReplyDelete
  10. दूसरा वाला ज्यादा अच्छा है आशीष हा हा हा

    ReplyDelete
  11. मेरे हिसाब से आपके लिये पहला वाला व्यवसाय उपयुक्त है,अगर समाज सेवा आपको रुचिकर लगती है,तो दूसरा व्यवसाय भी अपना सकते हैं ।

    ReplyDelete
  12. आशीष जी!
    खूब अच्छी तरह से सोच-समझ कर निर्णय लेना!
    मेरी शुभकामनाएँ आपके साथ हैं।

    ReplyDelete
  13. कमाल है जी। कुछ हट के .....

    ReplyDelete
  14. मैं तो बिना जन्‍मकुंडली देखे किसी को सलाह नहीं देती !!

    ReplyDelete
  15. दूसरा वाला ठीक लग रहा है . वैसे भी पिट तो रहे है पिट्ने के लिये पैसा मिल जाये तो क्या बुरा है

    ReplyDelete
  16. एक में मार खानेवाली बात ज्यादा है. दुसरे में दुनिया भर की बक बक करनी पडेगी. कोई बीचवाला रास्ता खोजिये न.
    - सुलभ जायसवाल 'सतरंगी'

    ReplyDelete
  17. हा हा....दोनों ही लाजवाब आफर हैं आशीष जी!

    ReplyDelete
  18. ksii ko bhi kar lijiye, dono men majaa hai.....paisaa hai.....aish hai........
    badhaai agrim pesh hai.......

    ReplyDelete
  19. समयोचित विचार कर कार्य करें....

    ReplyDelete
  20. काहे लफ़डे में पद़ते हो भाई.. अपने घर में दाल रोटी मिल हि जायेगी....:)

    ReplyDelete
  21. बहुत खूब। ये ज़रा हट के था।

    ReplyDelete
  22. सेकिंड बेस्ट जॉब ऑफ द वर्ल्ड- kijiye or doosri to as u said part tym hai to wo bhi kar sakte hai....

    ReplyDelete
  23. aap na part time dono kar lo :-)

    ReplyDelete
  24. पंचबैग वाला पार्ट टाइम कर लीजिए।:)
    बाकी शहरों की सैर तो वाकई मजेदार है।

    ReplyDelete
  25. दोनो बढिया है जो आप्को ज्यादा जच रहा हो चुन लीजिये :)

    ReplyDelete
  26. Ha ha ha ha......yah bhi khoob rahi....
    Aap dono hi job eksath kar sakte hain....

    ReplyDelete
  27. पंच बैग वाला ही कर लो.

    पैसे के पैसे मिलेंगे और आगे घर में भी काम ही आयेगा, :)

    ReplyDelete
  28. नये तरह की प्रविष्टि । आपको इनकी जरूरत है ?

    चुनिये आप ही ।

    ReplyDelete
  29. पहले के लिये अप्लाई करके उसका रिजल्ट आने तक दूसरा वाला करते रहो। तक तक पहले वाले का नतीजा आ जायेगा तब देख लेना।

    ReplyDelete
  30. भईया,
    हिंदुस्तानी पति तो पहले ही पंचबैग होते हैं...ये चीनी महाराज ने भारत से ये आइडिया भी चुरा लिया क्या...

    जय हिंद...

    ReplyDelete
  31. हिट मी जाब बढ़िया है वह तो मैं भी करने की सोच सकता हूँ, अच्छी तरकीब है पर उसकी मार्केटिंग करना भी टेढ़ी खीर है। :)

    ReplyDelete
  32. हिट मी जॉब - ये जॉब या व्यवसाय ... सबसे बेहतर लगा ..!!

    ReplyDelete
  33. मज़ेदार पोस्ट बनाई है. लेकिन कहीं आप वास्तव में तो इन नौकरियों के पीछे नहीं जा रहे. याद है न क्लर्क का वो गाना, "तेरी दो टकिया की नौकरी में मेरा लाखों का सावन जाये!"

    ReplyDelete
  34. Der mat karo,salah mat lo aue swayam sheegrah hee apply karo.......

    ReplyDelete
  35. आप जो चाहे वो करे,सफ़लता आपके कदमों को चूमें यही दुआ है।वैसे ये दुसरे पर ज्यादा ज़ोर दे रहे है भाई लोग।क्या बात है कुछ ज्यादा ही प्यार लगता है आपसे।हा हा हा हा हा हा।

    ReplyDelete
  36. हा हा हा आशीश जी अगर केवल शौक के लिये ही दूसरी जाब करनी है वो तो बीवी से पिट कर ही पूरा किया जा सकता है वैसे पहली जाब आपके लिये अच्छी रहेगी। आप का नाम दुनिया के नक्शे पर चमके भगवान आपको जीवन के हर पहलू मे सफलता दे यही दुआ है। बहुत बहुत आशीर्वाद

    ReplyDelete
  37. अरे भाई आशीष जी पहले काम के बार में तो में कुछ नहीं कहे सकता की मिले या नहीं पर दुसरे काम जायदा आसान है और फिर इस के लिए आप को कहीं सीखने के लिए फीस भी नहीं देनी पडे़गी किसी भी सड़क पर सीखा जा सकता है ...

    ReplyDelete
  38. मजेदार जॉब है घुमने वाली वह कर लो :)

    ReplyDelete
  39. पहला वाला जॉब कर लो....जिस शहर में जाओ वहाँ पार्ट टाइम दूसरा try कर लेना...

    ReplyDelete
  40. जय हो! नौकरी तो है. जो पहले मिले कर लो।

    ReplyDelete
  41. are nokri ke sath yeh bhi kar lete hain kya dikkat hai...
    ha ha ha...
    meet

    ReplyDelete
  42. aap koi bhi job kare, mujhe helpar bana lijiyega, maja aayega...

    ReplyDelete
  43. mast !!
    doosra wala job tabhi karne ka jab aap pahalvaan ho.. nahin to gadbad ho sakti hai :P

    kya-kya dhoondh nikaalte hain aap..

    aabhaar..

    ReplyDelete
  44. mere khyal se to सेकिंड बेस्ट जॉब ऑफ द वर्ल्ड best rahegi apko ghumne ki liye milega aur hume nayi nayi jagho ke baare mai janne ko mil jayega...lakin apko nek kaam bhi karne hai to second job option bhi bura nahi hai...

    ReplyDelete
  45. अगर घुमने का शौक है तो पहला जांब ठीक है लेकिन अगर अगर दुसरों का गम बांटना अच्छा लगता है तो दुसरा जाब ठीक है....मार खाने की आदत भी हो जायेगी....हा हा हा हा हा

    ReplyDelete
  46. भाई मजा आ गया। वैसे आप दूसरी वाल जाब करें तो मजा आएगा। हम भी आपके अनुभव के बाद विचार करेंगे।

    ReplyDelete
  47. आप हिट मी जाब ले लो और ईसमे आप पुरुषों का तनाव दूर करना :)))..हा.....हा.....

    ReplyDelete
  48. मेरा ख्याल है कि आप जहां भी हो बहुत अच्छे हो...
    अच्छा है चौबे जी,कि छब्बे जी न ही बनने की कोशिश करें ...कहीं इस चक्कर में दुबे जी न बन बैठना भाई :-)

    ReplyDelete
  49. आशीस जी, अगले पोस्ट का ईंतजार कर रहा हूं।

    ReplyDelete