Thursday, April 9

तोड़ दीजिए ब्लॉग के भाषाई बंधन

अशोक पाण्‍डेय जी ने पिछले हफ्ते सवाल पूछा था, "आशीष भाई, ब्‍लॉग पर पेज को अंग्रेजी में ट्रांसलेट करनेवाला बटन कैसे लगाया जाता है ? मेरा मतलब भाषा से है, सिर्फ लिपि से नहीं।" यह सवाल सुनते ही मेरे दिमाग में गूगल ट्रांसलेशन सुविधा और इसके हिन्दी-अंग्रेजी अनुवाद की तमाम खामियां घूमने लगीं। एक बार तो मैंने सोचा कि अशोक जी को कहा जाए कि यह अनुवाद किसी काम का नहीं.. अर्थ का अनर्थ कर देता है। लेकिन फिर मुझे अपने एक ऐसे अमेरिकी दोस्त की याद आई, जिसे हिन्दी बिल्कुल नहीं आती। यकीन मानिए कि वह गूगल ट्रांसलेशन की मदद से मेरे ब्लॉग को अंग्रेजी में अनूदित कर पढ़ता है और उसे पता होता है कि मैंने पोस्ट में क्या लिखा है।





अगर ब्लॉग पर एक छोटा सा ऐसा बटन लगा दिया जाए, जो ब्लॉग का दुनिया की किसी भी भाषा में अनुवाद कर सके, तो बुराई ही क्या है। हो सकता है कि दूसरी भाषा का पाठक आपके लेख से जो जानकारी पाना चाहता है, उसे वह इस आंशिक अनुवाद से ही मिल जाए। इसी वजह से मैं आज आपके लिए गूगल ट्रांसलेट विजेट पेश कर रहा हूं। यह आपके ब्लॉग की साइडबार में कुछ ऐसा दिखेगा-



इसे आप अपने ब्लॉग पर नीचे दिए गए बटन की मदद से आसानी से लगा सकते हैं-


यह तो आपको पता होगा ही कि चिट्ठाजगत के गिरगिट और ब्लॉगवाणी के इंडीनेटर की मदद से ब्लॉग को भारतीय भाषाओं की लिपियों में रूपांतरित (अनुवाद नहीं) किया जा सकता है। आप गिरगिट को यहां से और इंडीनेटर को यहां से अपने ब्लॉग पर ले जा सकते हैं।

अब एक जरूरी सूचना- अगर आप अंग्रेजी को पसंद नहीं करते हैं तो यह सूचना आपके लिए है। कई बार कुछ ज़रूरी वेबसाइटें देखनी पड़ती हैं और अगर उनकी सामग्री अंग्रेजी या किसी दूसरी भाषा में होती है, तो उन्हें पढ़ने की इच्छा ही नहीं होती। मैं आपको एक ऐसा बटन दे रहा हूं, जो किसी भी वेबसाइट को हिन्दी में अनुवादित कर देता है। हालांकि यह अनुवाद स्तरहीन हो सकता है, लेकिन फिर भी आप हिन्दी में यह तो समझ ही सकते हैं कि आखिर उस वेबसाइट पर क्या बात हो रही है।

Translate in Hindi

ऊपर लिखे गए Translate in Hindi पर राइट क्लिक कीजिए औऱ "Add to Favorites" का विकल्प चुन लीजिए। इसके बाद जैसे ही आपको किसी वेबपेज का अनुवाद करने की जरूरत हो तो आप Favorites लिस्ट में जाइए और Translate in HINDI पर क्लिक कर दीजिए। पल भर में आपका वेबपेज हिन्दी भाषा में रूपांतरित हो जाएगा।

क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

32 comments:

  1. हाँ गूगल ट्रांसलेट है तो थोडा बहुत काम का पर वो हिंदी की अंग्रेजी करते वक़्त कुछ का कुछ कर देता है .....फिर भी काफी हद तक लाभकारी भी है ...थोडा बहुत मतलब तो समझ ही सकता है इंसान

    ReplyDelete
  2. अब तक हिंदी में अर्थपूर्ण अनुवाद के लिए नेट पर कोई साधन नहीं है. इसके लिए कुछ हद तक हम लोग भी दोषी हैं. गूगल में अनुवाद सुझाने का भी प्रावधान है. यदि हम सब उसका प्रयोग करें तो आगे चलकर अनुवाद सही होने लगेगा.

    ReplyDelete
  3. बहुत बढ़िया लगा यह ..शुक्रिया

    ReplyDelete
  4. गूगल अनुवाद के इस विजेट के लिये धन्यवाद । Translate in Hindi का लिंक भी बहुत उपयोगी है ।

    ReplyDelete
  5. उपयोगी जानकारी के लिए धन्यवाद।

    ReplyDelete
  6. आज तो बहुत ही काम की जानकारी मिली. धन्यवाद.

    ReplyDelete
  7. रोचक! मेरा सबस्टेंशियल ट्रेफिक गिरगिटमय है! आज एक सज्जन मेडागास्कर के पास से अंग्रेजी रूपान्तरित मेरी दो तीन पोस्टें खंगालते मिल गये! :-)

    ReplyDelete
  8. मैं तो सारी कमियों के बावजूद गूगल ट्रान्सलेट को बहुत उपयोगी पाता हूँ। जापानी, जर्मन, फ्रेंच, रूसी भाषाओं से अनुवाद करने पर एक से एक उपयोगी बातें (मुख्यत: तकनीकी/व्यावसायिक) मिल जाती हैं जो अंग्रेजी में नहीं मिलतीं।

    ReplyDelete
  9. आशीष शानदार काम है....सचमुच..बधाई के पात्र हो....एक बार मेरी चिटठा जगत के विपुल से भी बात हो रही थी ,उनका कहना यही था लोग बहुत सारी चीजो का इस्तेमाल नहीं कर ते .कल अक्षत विचार पे यही पोस्ट थी...अभी छुट्टी पे जा रहा हूँ पर तुम्हारी इस पोस्ट का यकीनन इस्तेमाल होगा....जमे रहो ..

    ReplyDelete
  10. भाई आप ऐसे ही ज्ञान लुटाते रहिये हम तृप्त होते रहेंगे . धन्यवाद

    ReplyDelete
  11. hindi kae liyae yae suvidha bahut late shuru hui haen par english aur anya bhasho mae altavista babel fish translation tool pichlae dus saal sae mae itamaal kar rhaee hun aur bahut kaamyab tool hae

    ReplyDelete
  12. आज से लगभग 3 साल पहले ऐसा ही एक गैजेट अपने एक मित्र के ब्लौग पर देखा था और सोच में आ गया था कि ऐसे कैसे उसने लगाया है.. फिर कुछ मैंने भी गूगलियाया और इसकी जानकारी मिली.. उस समय यह हिंदी के लिये नहीं था.. मगर आज यहां से मिली जानकारी से दिल बाग-बाग हो गया.. :)

    ReplyDelete
  13. बहुत उपयोगी, मगर थोड़ी और बेहतरी की गुंजाईश भी.

    ReplyDelete
  14. आपने बहुत अच्छी जानकारी दी है । वैसे पुराने लोगो को तो शायद मालूम है लेकिन अभी भी बहुत से नये लोग इसके बारे मे नही जानते है । पूछ ताछ करते है । अगर सब कुछ हिन्दी मय हो जाये तो वह दिन दूर नही जब हिन्दी भाषा का संसार मे वर्चस्व होगा । और सबसे ज्यादा फायदा तब मिलेगा जब हिन्दी व्याकरण का कोई प्लग इन इजाद हो जायेगा । अभी तो फिलहाल हिन्दी शब्दकोश वर्तनी जांचक से ही काम चलाया जा सकता है ।

    ReplyDelete
  15. अच्छी जानकारी,आभार आपका।

    ReplyDelete
  16. बढि़या है आशीष। अनुनाद जी की बात से भी सहमत हूं और सुब्रह्मण्यन साहब की बात से भी। जितने ज्यादा लोग गूगल को सही अनुवाद सुझाएंगे, उतना बेहतरीन अनुवाद होता चला जाएगा। दिक्कत यह है कि हम भारतीय लेना तो जानते हैं मगर देना नहीं।
    शुक्रिया

    ReplyDelete
  17. उपयोगी जानकारी के लिए धन्यवाद।

    regards

    ReplyDelete
  18. आशीश भाई,
    प्रणाम!
    आपकी जानकारी इतनी रोचक है फिर भी मैं कोशिश करके भी ट्राँसलेशन का बटन अपने ब्लॉग पर नहीं लगा पाया। आपके पास समय हो तो मेरा छोटा सा ब्लॉग ज़रूर देखें और सबसे ऊपर बाँईं ओर देखे कि आपके द्वारा सुझाई गई विधि द्वारा मैने बटन तो लगाया लेकिन लगा कैसे? उम्मीद करता हूँ कि आपकी मदद हमेशा की तरह मिलेगी।

    ReplyDelete
  19. बहुत सुंदर जानकारी दी ... धन्‍यवाद।

    ReplyDelete
  20. बहुत बढ़िया आशीष जी..
    इसे ब्लॉग पर तो लगा लिया...
    लेकिन यह जो add to favourite वाला आप्शन है वो सिर्फ internet Explorer पे ही कम कर रहा है... opera में तो add to favourite का आप्शन ही नहीं आ रहा...
    मीत

    ReplyDelete
  21. achchhi lagi jaankari. dhanybaad.

    ReplyDelete
  22. उपयोगी जानकारी शुक्रिया..

    ReplyDelete
  23. बहुत ही उपयोगी जानकारी........धन्यवाद

    ReplyDelete
  24. bahut hi badiya jaankari hai bahut bahut dhanyvad

    ReplyDelete
  25. jai ho gurudev...badhiya jaankaari

    ReplyDelete
  26. bahut achhi jaankari di hai aapne........

    ReplyDelete
  27. poore blog jagat par aap bahut bada ahsaan kar rahe hai ji. dil se DHANYAWAD

    ReplyDelete
  28. deepak kumar1:22 AM GMT+5:30

    bahut bahut dhanyavaad

    ReplyDelete
  29. thank u very much for this precious information ..

    ReplyDelete