Saturday, November 1

हिन्दी टाइपिंग सुविधा साइडबार में

बहुत से साथी बार-बार पूछ रहे थे कि साइडबार में हिन्दी में लिखने वाला औज़ार कैसे लगाया जा सकता है। हाल ही अमिताभ भूषणजी ने भी यही सवाल किया था। कुछ प्रयास के बाद आखिर मुझे ऐसा बटन तैयार करने में कामयाबी मिल ही गई, जिसे क्लिक कर आप सीधे ही अपने ब्लॉग की साइडबार में हिन्दी में लिखने वाला बक्सा लगा सकते हैं। इसके लिए न तो आपको किसी कोड को कॉपी-पेस्ट करना है और न ही अपनी टेम्पलेट के कोड के साथ छेड़छाड़ करनी है। बस नीचे दिया गया बटन दबाइए और अपने ब्लॉगर अकाउंट में लॉग-इन कर हिन्दी ब्लॉग टिप्स की इस खास विजेट को जोड़ लीजिए।


बटन तक जाने के लिए यहां क्लिक करें...


वैसे आप चाहें तो साइडबार में इस कोड को कॉपी कर एड ए गेजेट में एचटीएमएल/जावास्क्रिप्ट में पेस्ट कर एक नया विजेट भी पा सकते हैं-

<script src="http://www.google.com/jsapi" type="text/javascript"></script>
<script type="text/javascript">
google.load("elements", "1", {
packages: "transliteration"
});
function onLoad() {
var options = {
sourceLanguage:
google.elements.transliteration.LanguageCode.ENGLISH,
destinationLanguage:
google.elements.transliteration.LanguageCode.HINDI,
shortcutKey: 'ctrl+g',
transliterationEnabled: true
};
// Create an instance on TransliterationControl with the required
// options.
var control =
new google.elements.transliteration.TransliterationControl(options);

// Enable transliteration in the textbox with id
// 'transliterateTextarea'.
control.makeTransliteratable(['transliterateTextarea']);
}
google.setOnLoadCallback(onLoad);
</script>
<div align="left"><textarea id="transliterateTextarea" style="width:100%;height:100px"></textarea></div><p align="right"><a style="font-size:60%;" href="http://tips-hindi.blogspot.com/2008/11/write-in-hindi-widget.html">विजेट आपके ब्लॉग पर</a></p>


क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

18 comments:

  1. ठीक है !
    आप सारी तकनीकी खामी दूर करके publish करियेगा....
    हम सब इन्तेजार करेंगे ...

    एक कमी और है जो शायद प्रथम् पर भी दिखती है की correct वर्ड के लिए क्लिक करने पर यह नीचे की ओर correction ऑप्शन्स देता है .

    ReplyDelete
  2. आप तो नित नए विषय पर काम कर रहे है उसके लिए कोटिसा बधाई आप को इश्वेर अनंत यश दे

    ReplyDelete
  3. आप का बहुत बहुत धन्यवाद .हिंदी में लिखने की पेरशानी को आप ने हल कर दिया इसी तरह नई से नई जानकारी देते रहे. प्रभु आप को उन्नति दे.

    ReplyDelete
  4. मेरा ब्लग मे डैसवार लेआउट सेटिङ्ङ्ग आदि नहि दिखा रहा है कैसे उसे सेट करे कृपया जानकारि भेजें ।

    ReplyDelete
  5. बहूत अच्छा है सर. ये बताएं की घडी लगाने और न्यूज़ लगाने के लिए क्या करना होगा.

    ReplyDelete
  6. namste ji kaise ho sab thik to hain na

    ReplyDelete
  7. प्रश्न हैं बहुतेरे....सज़ा....बहुत अच्छी कवितायें लगी जोगेन्दर जी.हां ...आंचल की लडाई... अप्ने अलग रंग की कविता है,क्या सोचते हैं बेटे आर्टीकल कमाल का लगाया....मन को छू गया सब कुछ....शुक्रिया.

    ReplyDelete
  8. behad upyogi jankari hai. dhanyavaad.

    ReplyDelete
  9. जिस चीज को खोजने में पूरा दिन लगाया ,वह आपके ब्लॉग पर आते ही अचानक मिल गयी, धन्यवाद

    ReplyDelete
  10. हमने आपका विजेट अपने ब्लॉग में लगा लिया हें धन्यवाद पहला ब्लॉग अग्रीगेटर टूलबार

    ReplyDelete
  11. आप का ये हिंदी ब्लॉग टिप्स बहुत अच्छा रहा पर एक बात बताइए जब हम ताला लाक लगा देते हैं तो इस में हिंदी में बदलने के लिए लिखा ही नहीं जाता क्या करें टिप्स सुझाएँ हमारा मेल है
    skshukl5@gmail.com

    ReplyDelete
  12. आप का ये हिंदी ब्लॉग टिप्स बहुत अच्छा रहा पर एक बात बताइए जब हम ताला लाक लगा देते हैं तो इस में हिंदी में बदलने के लिए लिखा ही नहीं जाता क्या करें टिप्स सुझाएँ हमारा मेल है
    skshukl5@gmail.com

    ReplyDelete
  13. बहुत ही अच्छी तरह काम कर रहा है. पर क्या आप यह सुविधा सीधे कमेन्ट बॉक्स में दे सकते हे मेरा ब्लॉग हे
    ब्लॉग तकनीक

    ReplyDelete
  14. aapke is sahasik work ko humara shat shat naman ji........... or aapki lekhni or rachna humare sir chadkar bolti hai aapke shabdo mai ek naya tazapan hai jo gul ko mehka deti hai............... or aap apne shabdo ki mala mai pirokar to or bhi khubsurat bana deta hai......... thanks sangeeta mother..........

    ReplyDelete
  15. आप का बहुत बहुत धन्यवाद .हिंदी में लिखने की पेरशानी को आप ने हल कर दिया इसी तरह नई से नई जानकारी देते रहे. प्रभु आप को उन्नति दे.

    ReplyDelete