Wednesday, February 4

ब्लॉग 'आयात' व 'निर्यात' कीजिए

क्या आप अपने दो या दो से अधिक ब्लॉग्स का विलय कर एक बनाना चाहते हैं? अथवा क्या आप अपने ब्लॉग की चुनिंदा प्रविष्ठियों को टिप्पणियों समेत दूसरे ब्लॉग पर ले जाना चाहते हैं? ब्लॉगर ब्लॉग पर यह चुटकियों का काम है। हिमांशु जी चाहते हैं कि वे अपने ब्लॉग 'नया प्रयत्न' को 'सच्चा शरणम' में समाहित कर दें। उन्हीं के निर्देश पर आज की यह पोस्ट प्रकाशित की जा रही है। आइए जानते हैं ब्लॉग को 'आयात' व 'निर्यात' करने का तरीका-

दो ब्लॉग्स को एक में बदलने का तरीका

1. डैशबोर्ड पर जाइए।

2. उस ब्लॉग की सैटिंग्स पर क्लिक कीजिए, जिसकी प्रविष्ठियों को (टिप्पणियों समेत) आप दूसरे ब्लॉग पर ले जाना चाहते हैं।

3. सबसे ऊपर Blog Tools श्रेणी में Export blog पर क्लिक कीजिए।



4. यहां आपसे Download Blog का ऑप्शन पूछा जाएगा। इस पर क्लिक कर आप अपने ब्लॉग की .xml फाइल को कंप्यूटर की किसी डायरेक्ट्री में सेव कर लीजिए।

5. अब फिर से डैशबोर्ड पर जाकर उस ब्लॉग पर जाइए, जिसमें आप उपरोक्त ब्लॉग की प्रविष्ठियों को दिखाना चाहते हैं।

6. सैटिंग्स पर क्लिक कीजिए, और सबसे ऊपर Blog Tools श्रेणी में Import blog पर क्लिक कीजिए।



(अगर आप सभी प्रविष्ठियां दिखाने चाहते हैं तो संबंधित विकल्प चुनें और मनचाही प्रविष्ठियां चुनने की अवस्था में इस विकल्प को खाली छोड़ दें)



7. यहां आपसे उस फाइल का पता पूछा जाएगा, जिसे आपने स्टेप-4 में सेव किया था।

8. Import blog पर क्लिक कर निर्देशों का पालन करते ही पहले ब्लॉग की प्रविष्ठियां और टिप्पणियां दूसरे ब्लॉग में समाहित हो जाएंगी।



नोट- ध्यान रखें कि इस विधि से पहले ब्लॉग पर कोई असर नहीं होगा। उसे पूर्व की तरह ही देखा जा सकेगा।

अगली पोस्ट में ब्लॉग का डुप्लीकेट ब्लॉग तैयार करने का तरीका



क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

7 comments:

  1. मेरी बहुत सी समझ इस चिट्ठाकारी में हिन्दी ब्लोग टिप्स से बनती है. ’किं कर्मं किं अकर्मं वा’ की दुविधा में डूबे मुझ-से व्यक्ति का उद्धार कर दिया आपने.
    आपके इतने त्वरित समाधान से काफ़ी बल मिला, दृढ़ भी हो सका हूं इस यात्रा के लिये.
    इस लाभकारी पोस्ट के लिये धन्यवाद.

    ReplyDelete
  2. बहुत अच्छे .एक बार कुश ने समझाया था आज विस्तार से पता चला....

    ReplyDelete
  3. अच्छा, पोस्टों की संख्या की कोई अपर लिमिट है?

    ReplyDelete
  4. बहुत अच्छी जानकारी दी है । काम मे लेकर देखेगें ।

    ReplyDelete
  5. शुक्रिया आशीष जी सही समय पर आपकी पोस्ट ने मेरी पुरानी पोस्ट को नये ब्लाक पर भेजने में काम आई। पाठकों के आग्रह पर इसे बनाना पडा था। इस ही तरह का सवाल एक बार मेरे द्वारा भी पूछा गया था। जे. के. जैन http://pinkcitygold.blogspot.com/

    ReplyDelete
  6. 4 mahine...pahle maluum hota to..jo blog delete kiya tha us ki posts transfer kar sakti thi..

    yah bahut hi useful tip hai..thanks.

    ReplyDelete
  7. Shukriya, is tarike ko maine abhi padhkar aajmaya hai aur safal hua.

    fir se shukriya aapka

    ReplyDelete