Monday, September 29

खुल जा सिम-सिम (Feeling Lucky Widget)

हिन्दी ब्लॉग टिप्स लाया है ऐसा जादुई बटन, जिसे दबाते ही ब्लॉग की कोई भी रेंडम पोस्ट अपने आप खुल जाएगी। इसे नाम दिया गया है, खुल जा सिम-सिम और यह बटन आपके पाठकों को ब्लॉग के पुराने से लेकर नए लेखों तक एक बार में ही पहुंचा सकता है। मान लीजिए कि आप पिछले एक साल से ब्लॉग लिख रहे हैं। अब आपके पाठक केवल आपकी ताजा और हालिया प्रविष्ठियों तक ही पहुंच पाते हैं। अगर आर्काइव में घुसने की मशक्कत की जाए, तो ही वे आपकी पुरानी प्रविष्ठियों तक पहुंच पाएंगे। तो क्यों न पाठकों को ऐसा जादुई बटन दे दिया जाए, जिसे दबाते ही रेंडम पोस्ट अपने आप खुलने लगे।

यानी कभी नई पोस्ट तो कभी पुरानी पोस्ट। इस बटन को अपने ब्लॉग पर जरूर लगाइए, क्योंकि यह आलसी से आलसी पाठकों को भी आपके ब्लॉग के ज्यादा से ज्यादा पेजों तक पहुंचा सकता है।
क्या कहा? लगाने की तकनीक मुश्किल होगी। जी नहीं, आपके लिए यह काम काफी आसान कर दिया गया है। बस नीचे दिए गए बटन को दबाइए। अपने ब्लॉग में लॉग-इन कीजिए (वर्डप्रेस वाले ब्लॉगर क्षमा कीजिएगा), और अगली विंडो में टाइटल को खाली छोड़ सेव कर दीजिए। यह बटन अपने आप आपके ब्लॉग तक पहुंच जाएगा।

8 comments:

  1. आशीष जी ये तो बड़ा मजेदार विजेट है | उपलब्ध कराने के लिए धन्यवाद

    ReplyDelete
  2. batan to laga diya hai, dekhte hain aage kaise kaam karta hai yah. aabhaar.

    ReplyDelete
  3. आप हिन्दी की सेवा कर रहे हैं, इसके लिए साधुवाद। हिन्दुस्तानी एकेडेमी से जुड़कर हिन्दी के उन्नयन में अपना सक्रिय सहयोग करें।

    ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
    सर्व मंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके।
    शरण्ये त्रयम्बके गौरि नारायणी नमोस्तुते॥


    शारदीय नवरात्र में माँ दुर्गा की कृपा से आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण हों। हार्दिक शुभकामना!
    (हिन्दुस्तानी एकेडेमी)
    ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

    ReplyDelete
  4. निजानुभूति को सुन्दर शब्दों में बंधा है आपने !

    ReplyDelete
  5. waaqai mein lucky feel kar raha hoon.....

    ReplyDelete
  6. Respected Ranjan ji
    it is useful for all of them who do not know english For this wonderful job thanks.
    Virender KUmar

    ReplyDelete
  7. i am new in blogging , i don't know how to write in hindi, plez help me

    ReplyDelete
  8. how r you sir

    ReplyDelete