Tuesday, June 9

अभिव्यक्ति का 'आकर्षक फ़ीड विजेट' जारी

हिंदी में हर सप्ताह प्रकाशित होने वाली प्रमुख जाल-पत्रिका अभिव्यक्ति को अब ब्लॉगर साथी अपने ब्लॉग पर सीधे ही पढ़ पाएंगे। कहानी, उपन्यास, संस्मरण, बालजगत, घर परिवार, विज्ञान, प्रौद्योगिकी, चित्रकला, प्रकृति, पर्यटन, रसोई आदि 30 से अधिक साहित्यिक विषयों को समेटने वाली इस ख़ास पत्रिका ने अब एक फ़ीड विजेट जारी किया है, जो ब्लॉग या वेबसाइट की साइडबार में आसानी से लगाया जा सकता है।

हर्ष का विषय यह है कि हाल ही इस विजेट को तैयार करने की जिम्मेदारी पत्रिका संपादक पूर्णिमा वर्मन जी ने मुझे सौंपी थी। उनके सुझाव और सहयोग के बाद यह विजेट इस रूप में सामने आया है। यह विजेट दो तरह के पीले रंग में उपलब्ध है।

गहरा पीला
हल्का पीला


ब्लॉग या वेबसाइट संचालक इसे अपने ब्लॉग की टेम्पलेट के हिसाब से चुन सकते हैं। विजेट की विशेषता यह है कि इसमें हर रचना की हैडलाइन पर क्लिक कर उसका सारांश विजेट में ही पढ़ा जा सकता है। इसके बाद संबंधित रचना के वेबपेज तक पहुंचने का विकल्प है। हर सोमवार अभिव्यक्ति का नया अंक प्रकाशित होते ही यह विजेट स्वंय ही अपडेट हो जाएगा।

इसे अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर स्थापित करना बहुत आसान है। ब्लॉगर सेवा वाले ब्लॉग तो इसे एक क्लिक पर लगा सकते हैं।

अभिव्यक्ति विजेट को अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर जगह देने के लिए यहां क्लिक करें







क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

18 comments:

  1. Abhivyakti ko mai kuchh samay pahle tk humesha parti thi per beech mai blog ke chakker se ise parna kafi kam ho gaya tha...apke is widget ke dwara ab mai ise fir se par paungi...

    bahut shukriya aur bahut achha widget...

    ReplyDelete
  2. ashish bhai...bahut hee badhiyaa aur sundar widget hai..blog par ;laga liya hai...dhanyavaad.

    ReplyDelete
  3. बहुत ही शानदार विजेट दिया है आपने.

    रामराम.

    ReplyDelete
  4. आशीष जी अभी मैं पहली बार अभिव्यक्ति की साईट पर आपके विजेट के मार्फ़त गया. वाकई आपने ऐसा लाजवाब विजेट दिया है कि एक चटके मे इतनी उम्दा साईट पर पहुंच गये. आपको बहुत धन्यवाद.


    अब वहां अभिव्यक्ति वालों ने आपका आभार मानते हुये आपकी एक फ़ोटो लगा रखी है. फ़ोटो देख कर ..अब हमारे दिमाग मे यह ज्वारभाटा आरहा है कि आपकी कौन सी फ़ोटो ताजा है? या उन लोगों ने जो आपकी फ़ोटो लगाई है वह किसी और व्यक्ति की गलती से लग गई?

    अगर ऐसा है तो गल्ती सुधारी जाये या आप स्पष्ट करें.

    रामराम.

    ReplyDelete
  5. बहुत अच्छा प्रयास है आपका। बधाई।

    -Zakir Ali ‘Rajnish’
    { Secretary-TSALIIM & SBAI }

    ReplyDelete
  6. आशीष जी, हमने तो लगा लिया,
    आपका बहुत-बहुत धन्यवाद.

    ReplyDelete
  7. अभिव्यक्ति का यह विजेट मनोहारी तो है ही, अधिकांश पाठकों को अभिव्यक्ति से जोड़ने के लिये उपयोगी भी है । इसके निर्माण के लिये धन्यवाद ।

    कविता के प्रेमी चिट्ठाकारों/पाठकों के लिये अनुभूति का एक अतिरिक्त विजेट क्यों नहीं ? हम काव्यप्रेमियों का निरन्तर अनुभूति से जुड़े रहने का मनोरथ भी पूर्ण हो जायेगा । मैं तो अनुभूति के एक और मनोहारी विजेट के लिये आपके द्वार खटखटा रहा हूँ । स्वीकार होगा क्या ?

    ReplyDelete
  8. वाह भई बहुत बढ़िया. लंबी, पुरानी डिमांड थी ये तो. अन्य साहित्यिक साइटों को भी इसे अपनाना चाहिए. फीड पूरी है कि नहीं (अभी जांचा नहीं है,)

    ReplyDelete
  9. पूर्णिमाजी की जय हो!

    ReplyDelete
  10. युक्ति पसन्द आई।
    आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

    ReplyDelete
  11. आशीष भाई की जय हो...

    ReplyDelete
  12. आशीष जी, बहुत - बहुत अच्छा विजेट दिया है आपने, मैने अभिव्यक्ति को कभी पढा नही था, आज पढा है

    इस अच्छी पत्रिका तक पहुचाने के लिये आपका बहुत - बहुत शुक्रिया

    ReplyDelete
  13. आशीश जी आपजो सेवा हिन्दी ब्लागर्ज़ की कर रहे हैं वो वंदनीय हैआपका बहुत बहुत धन्यवाद्

    ReplyDelete
  14. बहुत सुंदर और नेक कार्य

    सिर्फ एक के बूते का है

    उसे आशीष जो है आशीष।

    ReplyDelete
  15. swagat yogya, vandniya, sada prashanshaniya,

    bahut bahut dhanyavaad

    ReplyDelete
  16. मेरे ब्लाग पर आपका स्वागत है
    http://sim786.blogspot.com/

    कृपया अपने अमुल्य सुझाव एवं टिप्पणी दे।

    ReplyDelete
  17. आशीष जी, मैं आपसे एक जानकारी लेना चाहता हूं। मेरे प्रोफाइल पर यदि कोई क्लिक करता है तो जितने भी मेरे ब्लॉग हैं वो आजाते हैं पर मैं उन ब्लॉग लिस्ट में फेरबदल चाहता हूं क्या कोई उपाय है? मैं चाहता हूं जो सबसे नीचे वाला ब्लॉग है वो सबसे ऊपर आए क्योंकि मैं अधिकतर उस ब्लॉग पर ही एक्टिव रहता हूं। क्या ये संभव है?

    ReplyDelete
  18. blog ke dwara sms kaise bhej sakte hai kripya vijet bheje

    ReplyDelete