Tuesday, March 30

क्या ब्लॉगर हिन्दी चिट्ठों को मिटा रहा है?

पिछले कुछ दिन से कई साथी यह सवाल मुझसे फ़ोन पर व ई-मेल के जरिए पूछ चुके हैं। उनका कहना है कि उन्हें कुछ साथियों की यह मेल मिली है कि जल्द से जल्द अपने चिट्ठों बैकअप ले लीजिए, क्योंकि ब्लॉगर अपनी सेवाएं समेटने की तैयारी में है। मैं ऐसे साथियों को यही कहना चाहता हूं कि ब्लॉगर का ऐसा इरादा कतई नहीं है। वह तो दिन-ब-दिन अपनी सेवाओं में विस्तार कर रहा है।

अपने ब्लॉग का नियमित रूप से बैकअप लेना समझदारी भरा कदम है, लेकिन ऐसा इस आशंका के साथ नहीं किया जाना चाहिए कि ब्लॉगर आपके ब्लॉग को मिटा सकता है। ब्लॉगर स्वचलित तौर पर उन्हीं चिट्ठों को मिटाता है, जो उसकी सेवा शर्तों का उल्लंघन करते हैं। ब्लॉगर समय-समय पर अपनी सेवा शर्तों में बदलाव करता है और ताजा नियम-शर्तें यहां पढ़ी जा सकती हैं। साथ ही ब्लॉगर के डिजिटल मिलेनियम कॉपीराइट एक्ट (DMCA) की जानकारी यहां से ली जा सकती है।

करीब डेढ़ महीने पहले ब्लॉगर ने अपने आधिकारिक ब्लॉग पर एक पोस्ट लिखी थी, जिसमें उसने इसी तरह की आशंका का समाधान किया था। इस पोस्ट में नियम व शर्तों के उल्लंघन की ही बात की गई थी।

इसलिए मेरा सुझाव है कि आप इस आशंका को पूरी तरह दूर कर दें कि ब्लॉगर अब किनारा करने के मूड में है। ब्लॉगर तो अपनी जड़ें और मज़बूत करने की कवायद में है और इसी के तहत पिछले दिनों उसने यह सुविधा भी उपलब्ध कराई है कि अब आप बिना किसी तकनीकी ज्ञान के अपनी टेम्पलेट खुद डिजाइन कर सकते हैं। आपको भी ब्लॉगर से इस आशय की मेल पिछले हफ्ते मिली होगी।

आज पुष्पेंद्र जी ने मेल भेज कर यह जानना चाहा है कि अपनी टेम्पलेट खुद कैसे डिजाइन की जा सकती है। अगली पोस्ट में इस पर विस्तृत जानकारी के वादे के साथ.. हैपी ब्लॉगिंग.





क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए!!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

30 comments:

  1. बहुत बहुत शुक्रिया इस जानकारी के लिए क्यों की इस तरह की मेल मुझे भी मिली थी

    ReplyDelete
  2. वाह गुरू जी उचित समय पर बढिया जानकारी, कुछ इस तरह की हम भी सुनते तो थे, यह भी बता देते जो हम बैक अप लेंगे उसे ब्‍लागर के अलावा कहीं और इस्‍तेमाल कैसे करेंगे यानि ऐसी स्थिति में क्‍या अपनी वेब या किसी और सहूलत में कैसे भरेंगे

    ReplyDelete
  3. bahut bahut shukriya .........aisi mail mujhe bhi mili thi ab saans mein saans aayi.

    ReplyDelete
  4. आशीष जी , आप सही कह रहे है, ब्लॉगर के सेवाओं का उलंघन करने पर ही ब्लॉग मिट सकता है. लेकिन हमें अपने ब्लॉग का बैक अप लेते रहना चाहिए , ताकि परेशानी से बचा जा सके .
    हिन्दीकुंज

    ReplyDelete
  5. Kya aap hame bata sakte hain,ki, yah 'back up' kaise kiya ja sakta hai?
    Blogger apni sewayen band nahi kar raha yah sunke itminan hua!

    ReplyDelete
  6. @ shama ji

    बैक अप लेने की जानकारी इस पोस्ट पर है.

    http://tips-hindi.blogspot.com/2009/02/duplicate-blog.html

    हैपी ब्लॉगिंग.

    ReplyDelete
  7. बहुत बहुत शुक्रिया!
    यह खबर मैं ने भी सुनी थी.
    ***टेम्पलेट डिज़ाइनर टूल सच बहुत ही काम का है.अब ब्लॉगेर thirs पार्टी टेम्पलेट
    prayog करने से बचेंगे.
    मैं ने खुद अपने दो blogs के टेम्पलेट इसी तरह बदले हैं.
    यह बहुत ही आसान और रोचक है.

    ReplyDelete
  8. बहुत बहुत शुक्रिया इस जानकारी के लिए....

    ReplyDelete
  9. अरे भाई हम तो डर ही गए थे , क्योंकि हमने तो अभी तक बैकअप नहीं लिया है।
    अच्छी जानकारी दी आपने । आभार।

    ReplyDelete
  10. काफी दिनों बाद आपकी यह पोस्ट देखकर अच्छा लगा | मैं समझ सकता हूँ की आजकल आप कितने व्यस्त है | जिस सुविधा से कमाई होती हो उसे कैसे बंद किया जा सकता है | अगर ये शर्ते कोइ ब्लोगर हिन्दी में अनुवाद कर के पोस्ट करे तो और भी अच्छा रहेगा | आपका बहुत बहुत आभार |

    ReplyDelete
  11. बल्ले-बल्ले!

    वो टिप्पणियों की गिनती फिर से ग़ड़बड़ा रही है आशीष भाई...कुछ हो सकत है क्या?

    ReplyDelete
  12. गुरूजी, कोई ऎसी तरकीब खोजो जो एक ब्लॉग पर प्रकशित होने वाली पोस्ट को स्वचालित तरीके से किसी और दूसरे ब्लॉग पर भी प्रकाशित कर दे. इससे बेकअप लेने वाली समस्या में कुछ कमी आएगी.
    माना कि आज बेकअप लिया और अगले चार-पांच दिनों तक पोस्ट लिखी और बेकअप नहीं ले पाए, यदि अब ब्लॉग को कोई क्षति होती है तो इसकी पूर्ती कैसे होगी? इसलिए तरकीब खोजो गुरुवर................!!!!!!!!!!!!!!!!
    ये सूचना देकर बहुत से कमजोर दिल वालों को राहत दी होगी, आपने. आभार
    -----------------------------------------
    जय हिन्द, जय बुन्देलखण्ड

    ReplyDelete
  13. ले लिया जी बैकअप... जानकारी के लिये शुक्रिया :-)

    ReplyDelete
  14. आज कई दिन बाद आपकी पोस्ट पढ़ कर बहुत अच्छा लगा
    इतने दिन नादारद रहते हैं कोई बड़ी खोज चल रही होगी :)

    हम भी बैकअप ले लेते है
    अगली पोस्ट का इंतज़ार रहेगा

    टिप्पणी संख्या में दिक्कत हमें भी है
    आपसे नहीं कहा सोचा शायद खुद सही हो जाये
    फिर टेम्पलेट बदल दिया और अभी फिर से बॉक्स नहीं लगाया
    हमें तो आपके ब्लॉग पर भी कमेन्ट की गिनती कम लग रही है :)

    कुल प्रविष्ठियां: 220
    कुल टिप्पणियां: 974

    परसों तो केवल ५०० कुछ ही बता रहा था :)

    शुक्रिया

    ReplyDelete
  15. धन्‍यवाद आशीष जी मुझे इस जानकारी की बहुत जरूरत थी।

    ReplyDelete
  16. आपकी इस पोस्ट से सभी ब्लॉगरों को राहत मिली!

    ReplyDelete
  17. हेलो, नमस्ते
    बाप रे इस प्रकार की बातों ? अफवाहों से डर के मैंने भी अपना ब्लॉग बचाने की कोशिश की.
    क्योंकि जो है ब्लॉग में ही है मेरे पास तो कोई लिखित दस्तावेज भी नही ,आज आपकी बात पढ़ कर राहत मिली .
    निसंदेह आपका ब्लॉग मुझ जैसे अनाड़ियों /नौसिखियों के लिए तो 'गुरु द्रौनाचार्या' से कम नही.
    मार्ग दर्शन देते रहिये
    ढेरों शुभकामनायें
    इंदु पुरी

    ReplyDelete
  18. बहुत दिनों बाद हाज़िर हुए है आप ?
    ब्लॉगर के तारणहार यु गायब न हुआ कीजिये .
    जानकारी भरी पोस्ट .
    बहुत शुक्रिया !!!!!
    टिपण्णी की संख्या नहीं सुधर रही .

    ReplyDelete
  19. Asheesh jee bahut din baad apakjee post dekh kar raahat milee hai is jaanakaaree ke liye dhanyavaad mujhe bhee tippani aur posts kee counting ko le kar problem hai please kuch karen usake liye. dhanyavaad aur shubhakaamanaayen

    ReplyDelete
  20. महत्वपूर्ण जानकारी..शुक्रिया.

    ReplyDelete
  21. बहुत बढ़िया जानकारी

    ReplyDelete
  22. आशीष जी क्या ये साईट आपसे सम्बंधित है तो ये ब्लॉग देंखें

    http://munishlehri2.blogspot.com/2010/03/kya-aap-koi-bhi-information-hindi-mai.html

    ReplyDelete
  23. शुक्र है आप अवतरित तो हुए ! निहार रहे थे हम राह, महसूस रहे थे अनुपस्थिति आपकी ! इस पोस्ट ने राहत दी ! आश्वस्त भी हुएम निश्चिन्त भी ! आभार ।

    ReplyDelete
  24. आशीष जी, मेरे द्वारा मेरा ब्लॉग खोलने पर सन्देश दिखाया जा रहा है की मेरा ब्लॉग रिमूव कर दिया गया है. ऐसा चार-पांच दिन पहले भी हुआ था. लेकिन शाम होते होते ब्लॉग अपने आप दिखने लगा था. लेकिन आज फिर ऐसा हुआ है. इसके साथ मेरा जी-मेल भी नहीं खुल रहा है. पिछली बार पाबला जी से बात हुई थी. उन्होंने बताया था की कोई डरने की बात नहीं है. गूगल में कोई कमी आ गई होगी सो ऐसा हुआ होगा. कृपया कर आप भी बताये की ऐसा बार-बार मेरे साथ ही क्यों हो रहा है. मेरा मोबाईल न. है - 099916-10952
    मेरा ब्लॉग है - www.gooftgu.blogspot.com
    कृपया कर मुझे अपना न. बताये जिससे मै आपसे बात कर सकूँ.

    ReplyDelete
  25. upyogi jaankaari ke liye bahut-bahut dhanyavaad.

    ReplyDelete
  26. thank you it is good material to read this post increases my knowledge

    ReplyDelete