Wednesday, January 20

लगाइए सर्च को धार - रिफाइन सर्च के चंद फॉर्मूले

सर्च इंजन में सामग्री ढूंढ़ते समय कुछ छोटी-छोटी टिप्स वक्त भी बचा सकती हैं और मेहनत भी

इंटरनेट पर मनचाही सामग्री की तलाश के लिए मदद ली जाती है सर्च इंजन की। सामग्री से जुड़े की-वर्ड को जैसे ही सर्च इंजन में डाला जाता है, हजारों रिजल्ट मिलते हैं। अब समस्या शुरू होती है कि इनमें से कौनसे पेज को खोलकर देखा जाए, जिसमें जरूरत के मुताबिक सामग्री मिल सके। एक-एक कर पेज खोले जाते हैं और उसी रफ्तार से बंद भी कर दिए जाते हैं। अगर किस्मत अच्छी है तो जल्द ही सामग्री मिल जाती है और अगर आप किसी खास चीज को तलाश कर रहे हैं, तो हो सकता है कि इसके लिए कई घंटे लग जाएं। गहन और सटीक सर्च के लिए सर्च इंजन की भाषा समझना जरूरी है। इसके कुछ छोटे-छोटे नियम हैं, जो आमतौर पर काम में नहीं लिए जाते। अगर इन नियमों का ध्यान रखा जाए तो न केवल सर्च काफी धारदार हो जाएगी, बल्कि वक्त और मेहनत की भी बचत होगी। सर्च को धारदार बनाने के लिए जानिए कुछ टिप्स-

की-वर्ड्स का चयन

सर्च के लिए आपको सही की-वर्ड का निर्धारण करना होता है और दूसरे नतीजों के लिए विकल्प भी तैयार रखना होता है। जैसे अगर आप ब्लॉग के लिए टेम्पलेट ढूंढ रहे हैं और holidays singapore से आपको मनचाहे रिजल्ट नहीं मिल रहे हैं तो singapore vacation को आजमा सकते हैं। अगर आपको शब्दों की सही स्पेलिंग नहीं आती तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। गूगल और याहू जैसे अधिकतर सर्च इंजन इस मामले में इंटेलिजेंट हैं और सही स्पेलिंग खुद-ब-खुद सुझा देते हैं।

कैटेगरी का चयन

कई बार सही कैटेगरी नहीं चुनने की वजह से भी सर्च में समस्या आ सकती है। मसलन अगर आप भारत-बांग्लादेश टेस्ट मैच की ताज़ा जानकारी तलाश रहे हैं तो आप वेब की बजाय न्यूज कैटेगरी में जाइए। अगर आप वेब कैटेगरी में तलाशेंगे तो ऊपर के नतीजों में आपको इन टीमों से जुड़ी पुरानी जानकारी भी मिल सकती है। जबकि न्यूज कैटेगरी में सबसे ऊपर ताजा जानकारी मिल जाएगी। इसी तरह इमेज, ग्रुप, मैप आदि कैटेगरी को चुनकर आप सर्च को शार्प कर सकते हैं। आजकल गूगल सर्च इंजन में वेब कैटेगरी में भी एक रिजल्ट न्यूज कैटेगरी का दिखाया जाता है।


प्रिपोजिशन हटाएं

सर्च इंजन इस तरह डिजायन किए गए हैं कि अधिकतर प्रिपोजिशन उनके लिए बेमानी हैं। मसलन and, of, for, in जैसे शब्दों को ये इंजन अपनी सर्च में शामिल नहीं करते। इसलिए बेहतर है कि की-वर्ड्स में इस तरह के शब्दों का प्रयोग नहीं किया जाए। इसके अलावा आप सर्च के लिए जितने शब्द लिखेंगे, सर्च इंजन उन सभी शब्दों को ढूंढ़ते हैं, भले ही वे मैटर में किसी भी जगह और किसी भी क्रम में क्यों नहीं हो।

फ्रेज को यूं तलाशें

मान लीजिए आपको the long and winding road एक साथ तलाशना है तो इसके लिए उद्धरण चिन्हों (इन्वर्टेड कोमाज) की मदद लेनी चाहिए। अगर आप इसे इन्वर्टेड कोमाज के बीच "the long and winding road" लिखकर सर्च करेंगे तो आपको केवल वे ही रिजल्ट मिलेंगे जिसमें ये सभी शब्द एक साथ इसी क्रम में हैं।

वर्ड नहीं चाहिए

कई बार ऐसा होता है कि आपको clinton पर सामग्री चाहिए पर वो नहीं जिसमें lewinsky के बारे में जिक्र हो। इसके लिए आप एक शब्द के बाद स्पेस देकर माइनस चिन्ह का प्रयोग कर सकते हैं। मसलन अगर आप clinton -lewinsky तलाशेंगे तो आपको वे ही रिजल्ट मिलेंगे जिनमें केवल क्लिंटन है और लेविंस्की नहीं।

यूआरएल सर्च

यूआरएल या वेब एड्रेस में अगर आपको किसी शब्द की सर्च करनी है तो आप inurl की मदद ले सकते हैं। मसलन अगर आपको वे वेब एड्रेस चाहिए जिनमें time शब्द आता हो आप सर्च इंजन में inurl:time लिखकर एंटर करें। सभी रिजल्ट वे ही मिलेंगे जिनके वेब एड्रेस में कहीं न कहीं time शब्द आता है।

परिभाषा जानें

अगर आपको किसी शब्द का अर्थ जानना है तो वेब डिक्शनरी पर जाने की जरूरत नहीं है। अगर आप define:time सर्च इंजन में डालेंगे तो आपको time शब्द की परिभाषा मिल जाएगी। इसी तरह आप दूसरे शब्दों की परिभाषा और अर्थ जान सकते हैं।

आई एम फीलिंग लकी

गूगल सर्च इंजन वक्त बचाने के लिए यह फेसिलिटी प्रोवाइड करा रहा है जिसमें सर्च करते वक्त वही पेज खुलता है जो सबसे रेलेवेंट होता है। इसके लिए सर्च बॉक्स में की-वर्ड लिखकर सर्च की बजाय आई एम फीलिंग लकी बटन को प्रेस कीजिए। सबसे रेलेवेंट साइट के ही खुलने से वक्त की बचत होती है।

हिन्दी में सर्च

अगर आपको अपनी सर्च के नतीजे देवनागरी हिन्दी में चाहिए तो आप इस लिंक की मदद लेकर अपने नतीजे हिन्दी में प्राप्त कर सकते हैं। यहां आप रोमन में लिखिए और ट्रांसलिटरेटर सेवा इसे देवनागरी में बदलकर नतीजे देवनागरी में ही उपलब्ध कराती है।

उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी।

हैपी ब्लॉगिंग






क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!
पिछली पोस्ट के हमसफरः Dr. Mahesh Sinha जी, श्रीश पाठक 'प्रखर' जी, वन्दना गुप्ता जी, Etips-Blog, प्रवीण त्रिवेदी ╬ PRAVEEN TRIVEDI , jamos jhalla जी, संगीता पुरी जी, क्रिएटिव मंच, अनुनाद सिंह जी, अजय कुमार झा जी, vivek जी, Ratan Singh Shekhawat जी, पं.डी.के.शर्मा"वत्स" जी, चंदन कुमार झा जी, Richa जी, दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi जी, nadeem जी, डॉ० कुमारेन्द्र सिंह सेंगर जी, PD जी, मनोज कुमार जी, Udan Tashtari जी, shama जी, हिमांशु जी, निर्मला कपिला जी, अविनाश वाचस्पति जी, गौतम राजरिशी जी, प्रवीण शाह जी, सुलभ सतरंगी जी, ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ जी, अन्तर सोहिल जी, रंजन जी, अवधिया चाचा जी, रौशन जसवाल विक्षिप्त जी, >,रंजना [रंजू भाटिया] जी, Mishra Pankaj जी, Ramgopal Vishwakarma जी, मीत जी, वाणी गीत जी, डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक जी, मानव मेहता जी, काजल कुमार Kajal Kumar जी, अल्पना वर्मा जी, tarangdarshan जी, सुशील कुमार छौक्कर जी, anjana जी, henpandey जी, Pratik Maheshwari जी औरMohammed Umar Kairanvi जी

33 comments:

  1. वाह आशीष जी !! हर पोस्ट में एक से बढ़ कर एक कमाल की उपयोगी टिप्स देते हैं आप... रिफाइन सर्चिंग के इन तमाम उपयोगी फॉर्मूलों को हम सब के साथ शेयर करने के लिये शुक्रिया !!!

    ReplyDelete
  2. बहुत ही उपयोगी जानकारी।
    हार्दिक आभार।

    ReplyDelete
  3. बहुत अच्छी जानकारी प्रदान की आपने...

    धन्यवाद....

    ReplyDelete
  4. आपको वसंत पंचमी और सरस्वती पूजन की शुभकामनाये !

    ReplyDelete
  5. आपने बहुत ही अच्छी जानकारी दी है. मेरे पास काफ़ी सारी सामग्री चाण्क्य फ़ोंट पर है जो मैं ब्लाग पर प्रकाशित नही कर पा रही हूं और इसीलिये मैं ब्लाग अपडेट नही कर पा रही हूं.

    क्या इसे ब्लाग पर छापने योग्य बनाया जा सकता है?

    ReplyDelete
  6. "सरस्वती माता का सबको वरदान मिले,
    वासंती फूलों-सा सबका मन आज खिले!
    खिलकर सब मुस्काएँ, सब सबके मन भाएँ!"

    --
    क्यों हम सब पूजा करते हैं, सरस्वती माता की?
    लगी झूमने खेतों में, कोहरे में भोर हुई!
    --
    संपादक : सरस पायस

    ReplyDelete
  7. बहुत ही उपयोगी जानकारी।
    हार्दिक आभार।

    ReplyDelete
  8. VERY USEFUL,
    PLS TELL ME HOW I CAN SAVE THIS INFROMATION ON MY GOOGLE DOC FOR MY FUTURE USE?

    ReplyDelete
  9. ये तो बहुत ही कमाल की जानकारी उपलब्ध करा दी आपने....
    बहुत ही उपयोगी!!
    आभार्!!

    ReplyDelete
  10. बाद मुद्दत के ये घड़ी आयी...
    आप दिखे ।
    खोजना तो बहुत कुछ होता है हमें सटीक,अब आसान हो जायेगा ।
    हम तो यूँ ही सर खपाते रहते थे पहले !

    आपका आभार !

    ReplyDelete
  11. अति उपयोगी आलेख!!

    ReplyDelete
  12. वाह!!!!!!!!!!आप ब्लाॅगरस के लिये पथ प्रदर्शक हैं।

    ReplyDelete
  13. आज तो बहुत ही काम की जानकारी मिली, इस तरह से सर्च करने मे समय की भी बचत होगी और सटीकता से वहां पहुंच पायेंगे.

    अब आप यह बताईये कि किसी पिक्चर तक पहुंचना हो तो उसका क्या तरीका है?

    रामराम.

    ReplyDelete
  14. अच्छी जानकारी दी है आपने.

    ReplyDelete
  15. सर्च तो हमेशा ही करते थे लेकिन आज बहुत सी बाते आप से ही सीख ली है | बहुत बढ़िया पोस्ट है |

    ReplyDelete
  16. aashish bhai bahut hi badhiya jankari
    aap likhte rahiye...

    ReplyDelete
  17. is search par aapki search achchi lagi :-)

    ReplyDelete
  18. आशीश जी,इतने दिनों के बाद दिखाई दिये,और सदा की भान्ति एक उपयगी जानकारी के साथ धन्यवाद ।

    ReplyDelete
  19. उपयोगी जानकारी.

    ReplyDelete
  20. yeh to bahut upyogi hai bhai..
    ek bat or jaana chah raha tha wo yeh hai ki
    agar hum apne blog ka pata or isme prayog apni e-mail id badalna chahte hain to kya yeh bina kisi samsya ke sambhav hai... yadi hai to jarur bataiyega...
    meet

    ReplyDelete
  21. लो जी इस तरीके का इस्तेमाल हम बरसों से करते है आ रहे है और आपने इन सबको जमा करके एक पोस्ट बना ली अच्छा है......

    ReplyDelete
  22. अच्छी जानकारी अक्सर सर्च का सही उपयोग ना करने से सही जानकारी गूगल भी नही दे पाता .

    आशिष भाई धन्यवाद

    ReplyDelete
  23. सचमुच बहुत उपयोगी बातें बतलाते हैं आप-परोपकारी कहूं तो भला कौन आपत्ति करेगा

    ReplyDelete
  24. कारगर लेख!
    बढ़िया जानकारी!

    ReplyDelete
  25. aap ke soch achahi hai vigyan ke samachar ke liye dekhe drvelopmentspn09.blogspot

    ReplyDelete
  26. बढिया जानकारी दी है आपने मैंने भी एक ऐसी पोस्ट लिखी थी http://sarparast.blogspot.com/2009/04/blog-post_04.html

    आपके ब्लॉग पर हमेशा उत्तम जानकारी ही होती है

    ReplyDelete
  27. ब्लॉग चर्चा मे आज हम बात कर रहे है ''हिन्दी ब्लॉग टिप्स'' की..तो चर्चा को पड़ने के लिए यहा क्लिक करें


    http://yaadonkaaaina.blogspot.com/2010/02/blog-post_20.html

    ReplyDelete
  28. अति-उत्तम। सर्च के बारे में ज्ञानवर्धक जानकारी के लिए धन्यवाद। दो शब्दों में- झंझट खत्म।

    ReplyDelete
  29. lovely friend
    what a info it is
    being a teacher I use the search engines most but today I did know how to save my time on it.
    thanks a lot!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!

    ReplyDelete