Thursday, August 6

ऑफलाइन हिन्दी लिखने के औज़ार (कमेंट बॉक्स में सीधे ही हिन्दी टाइप कैसे करें)

कई दिनों से कुछ साथी पूछ रहे थे कि वे यूनीकोड हिन्दी में ऑफलाइन टाइप कैसे करें। यानी नेट कनेक्शन काम नहीं करने की अवस्था में हिन्दी में कैसे लिखा जाए। या कमेंट करते वक्त सीधे ही हिन्दी में टाइप कैसे करें। प्रकाश गोविन्द जी ने इस सवाल के साथ अनुरोध किया कि इस पर एक पोस्ट ही लिख दी जाए। पूजा उपाध्याय जी से विशेष माफी चाहूंगा कि उनकी इस जिज्ञासा पर कई महीनों बाद पोस्ट लिख पा रहा हूं।

वैसे तो ऑफलाइन हिन्दी लिखने के लिए कई साधन इंटरनेट पर मौजूद हैं, लेकिन मेरी पसंद के दो सर्वश्रेष्ठ साधन हैं-

बारहा

इंडिक आईएमई


आप इन्हें डाउनलोड कीजिए (नाम पर क्लिक कीजिए) और ज्यादा जानकारी लिंक 1 और लिंक 2 से पा सकते हैं।

इस विषय पर विस्तार से इसलिए नहीं लिख रहा हूं क्योंकि पहले ही गुणीजन इन पर काफी कुछ लिख चुके हैं और इनकी तुलनात्मक समीक्षा भी कर चुके हैं।

बारहा, हिन्दीराइटर तथा इंडिक IME की तुलनात्मक समीक्षा

बाराहा नही भई वाह! वाह! बोलिये

हैक - बरहा, कैफे हिन्दी आदि द्वारा एम एस‌ वर्ड में हिन्दी टाइप करना

बाराहा का नया संस्करण

आप इन्हें आजमाइए और अपने अनुभव बताइए। परेशानी की स्थिति में टिप्पणी के जरिए बेहिचक संपर्क कीजिए। हैपी ब्लॉगिंग :)




क्या आपको यह लेख पसंद आया? अगर हां, तो ...इस ब्लॉग के प्रशंसक बनिए ना !!

हिन्दी ब्लॉग टिप्स की हर नई जानकारी अपने मेल-बॉक्स में मुफ्त मंगाइए!!!!!!!!!!

32 comments:

  1. उपयोगी साधन हैं ये हिन्दी लिखने के । बहुत दिनॊं से उपयोग में ला रहा हूँ । आभार ।

    ReplyDelete
  2. बहुत बढ़िया जानकारी देने के लिए आभार.

    ReplyDelete
  3. जानकारी देने के लिए आभार

    ReplyDelete
  4. बहुत उपयोगी जानकारी. धन्यवाद

    रामराम.

    ReplyDelete
  5. आशीष जी मैं ब्लॉगिंग में केवल 6 माह से ही हूँ।
    इस अवधि में 3-4 की-बोर्ड याद कर लिए हैं।
    आपने बहुत उपयोगी जानकारी दी है।
    इसे जरूर आजमा कर देखेंगे।
    आभार।

    ReplyDelete
  6. sarkaaren beshak hindi ke prati kewal naare baazi tak hi seemeit hon magar aap log vaakai hindi ko bharat ke maathe ki bindi banaane me moolyavaan yogdaan de rahe hain.badhaai.jhalli-kalam-se
    angrezi-vichar.blogspot.com
    jhallevichar.blogspot.com

    ReplyDelete
  7. हम भी लिखने के लिये Baraha IME का उपयोग करते है.जानकारी के लिये आभार.

    गुलमोहर का फूल

    ReplyDelete
  8. जानकारी के लिये आभार मैं कैफेहिन्दी प्रयोग मे लाती हूँ

    ReplyDelete
  9. जय हो गुरुदेव जय हो
    बहुत-बहुत शुक्रिया !


    बेहद उपयोगी जानकारी ... निश्चित ही मेरे साथ ही अन्य लोगों के भी काम आएगी !

    अब इसे डाउनलोड करके देखता हूँ .. अगर कामयाब रहा तो आपकी दावत पक्की !

    ReplyDelete
  10. जब से हिन्दी ब्लोगिंग शुरू की है तब से इसे इस्तेमाल कर रहे है....

    कुछ कमियां है इसमें...कुछ मात्रायें सही तरफ़ से लगती नही है...जैसे... पर्थ्वी...

    ReplyDelete
  11. आफ लाइन के लिए इससे बेहतर कुछ नहीं है
    मगर ऑन लाइन होने पर इससे बेहतर और मेरी नज़र में सबसे अच्छा उपाय या कहें जुगाड़ मेरे पास है

    ऑरकुट में प्रोफाइल बनाइये और स्क्रैप बुक में जा कर हिंदी क्लिक कर के टाइप कीजिये

    बारहा से तो बहुत सरल है :)

    गूगल हिंदी ट्रांसलेटर में कभी कभी अटकाव आ जाता है मगर यहाँ कभी परेशानी नहीं हुई
    एक साल से यही इस्तेमाल कर रहा हूँ आप भी कर के देखिये

    वीनस केसरी

    ReplyDelete
  12. इस जानकारी के लिए धन्यवाद. प्रयोग में परेशानी होने पर आपको झेलना तो पड़ेगा ही ..!!

    ReplyDelete
  13. सार्थक एवम् उपयोगी जानकारी...साधू.

    ReplyDelete
  14. ई-मेल से मिली टिप्पणी

    मैं कफ़ी समय से BARAHA का उपयोग कर रहा हूं-बहुत बढ़िया है, एकदम आसान।
    आपने सभी को जानकारी देकर पुण्य कमाया है। बधाई!
    टी.सी. चन्दर

    ReplyDelete
  15. कोशिश कर के लिख्न तो रहे है शुक्रिया :)

    ReplyDelete
  16. हिंदी में लिखने वालों के लिए अत्यंत उपयोगी जानकारी |

    ReplyDelete
  17. बाराहा ही इस्तमाल करता हूँ.. बहुत शानदार टुल है..

    ReplyDelete
  18. मुझे सर्वाधिक प्रभावित किया है Hindi Writer 1.4 ने, मैं उसे उपयोग करता हूँ… यह वर्ड तथा याहू मेसेंजर मे भी में सीधे हिन्दी टाइप करने की सुविधा देता है…

    ReplyDelete
  19. बहुत ही उपयोगी जानकारी..आभार।

    ReplyDelete
  20. बहुत धन्यवाद आशीष जी, आखिर मेरा नंबर भी आ ही गया...बारहा तो कभी मेरे पल्ले नहीं पड़ा, बहुत मुश्किल होता है उसमें लिखना...इंडिक imi वाला दूसरा आप्शन आज घर जा के try करुँगी...फिर अपने अनुभव लिखती हूँ. बहुत बहुत धन्यवाद.

    ReplyDelete
  21. बहुत अच्छी जानकारी

    ReplyDelete
  22. मैं तो जी हिदी टूल कीट इस्तेमाल करता हूँ। ऐसे ही अच्छी अच्छी जानकारी लाते रहिए जी।

    ReplyDelete
  23. Is jaankari ki mujhe bhi talash thi. Aajma kar dekhunga. Dhanyavad.

    ReplyDelete
  24. सार्थक प्रस्तुति । साधुवाद!

    ReplyDelete
  25. तेह दिल से धन्यावाद,लेकीन एक समस्या है,पेहले भी एक ऐसा ही,हिन्दी मे लिख्न्ने के लिए दाऊन्लोद किया था,येह नही मालुम वोह कौन सा सो्फ़्त्वे्यर था,उस को हताना चाह्ता हू,कैसे हताउ,ओर इस सोफ़्त्वे्येर,मे कोइ एदितिनग की सुविधा है?

    ReplyDelete
  26. आशीश जी मैने एक ही बलोग को उसी मे लिन्क कर दिया,जब भी कोइ पोस्त लिखता हु,उसका दुपलीकेत बन जाता है,उसको केसे थीक करु,आपकी मेहेरबानी होगी

    ReplyDelete
  27. वाह आशीष जी कभी-कभी सोचता हूँ की आप नहीं होते तो हमें इन सब चीजों के बारे में कोण बताता...
    मीत

    ReplyDelete
  28. मैं बाराहा में ’’ ग्यान”नही टाइप कर पाया हूं ; मुझे ”ग्य” सही-सही टाईप करना बतायें, क्योँ कि हेल्प में भी मदद नही मिली ?

    ReplyDelete
  29. भाई साहब मैं हिंदी में रेमिंगटन पर लिखना चाहता हूँ, कृपया सहायता करें.
    संदीप मिश्र
    e mail - sandeephindusthan@gmail.com

    ReplyDelete
  30. kafi acchi jankari hai khaskar mujh jase kuch na janne walea larko ke liyea....

    ReplyDelete